जागरण संवाददाता, मऊ : जनपद स्तर पर यूपी बोर्ड परीक्षा-2022 की तैयारियां जोर-शोर से पूरी की जा रही है। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से बनाए गए 126 बोर्ड परीक्षा केंद्रों के संबंध में मिली आपत्तियों एवं प्रत्यावेदनों को निस्तारित कर दिया गया। जिलाधिकारी अरुण कुमार ने आपत्तियों के निस्तारण के बाद यूपी बोर्ड से जारी परीक्षा केंद्रों की पुरानी सूची को ही हरी झंडी दे दिया। इससे किसी अतिरिक्त या नये इंटर कालेज को यूपी बोर्ड परीक्षा-2022 का केंद्र बनने का मौका नहीं मिला है। इसकी भनक लगते ही कई इंटर कालेजों के प्रबंधकों एवं प्रधानाचार्यों के चेहरे लटक गए हैं।

यूपी बोर्ड से परीक्षा केंद्रों की सूची जारी होने के बाद 100 से अधिक प्रत्यावेदन व आपत्तियां जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय को प्राप्त हुईं थीं। जनपदीय केंद्र निर्धारण समिति की ओर से प्रत्येक आपत्ति का मूल्यांकन किया गया। इसमें से ज्यादातर आपत्तियां तथ्यहीन पाईं गईं। वहीं, कई प्रत्यावेदन तरह-तरह का हवाला देकर केंद्र बनाए जाने की मांग से संबंधित था। जिला विद्यालय निरीक्षक डा.राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि आपत्तियों को निस्तारित कर लिया गया है। पुरानी सूची को ही जिलाधिकारी के स्तर से अनुमोदन प्राप्त हुआ है। कोई नया परीक्षा केंद्र नहीं बनाया गया है। जिन 126 इंटर कालेजों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है, वही रहेंगे।

नहीं बनाया गया नया केंद्र

126 बोर्ड परीक्षा केंद्रों पर हाईस्कूल के 43,990 एवं इंटरमीडिएट के 37,474 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। आपत्तियों के निस्तारण के बाद कोई नया परीक्षा केंद्र नहीं बनाया गया है।

- डा.राजेंद्र प्रसाद, डीआइओएस, मऊ।

Edited By: Jagran