जागरण संवाददाता, चिरैयाकोट (मऊ) : बीते 31 जनवरी की सुबह 8 बजे नगर के खाकी बाबा की कुटी पर बने धर्मशाला की जाली से सभासद पुत्र व मानव अधिकार मिशन के जिलाध्यक्ष पंकज वर्मा का शव मफलर से लटका मिला था। लोग पहले इसे आत्महत्या ही मानकर चल रहे थे परंतु घटनास्थल का दृश्य कई सवाल खड़ा कर रहा है। मृतक के घर शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे मानवाधिकार मिशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आनंद गुप्ता व पूर्व में पीड़ित के घर पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष अनिल श्रीवास्तव ने इसे हत्या करार देते हुए पुलिस प्रशासन की मिलीभगत बताया था।

इसके पूर्व पीड़ित परिजनों ने बताया था कि पुलिस और प्रसाशन से लगातार उनको धमकियां दी जा रही थी। यह बात राष्ट्रीय अध्यक्ष के संज्ञान में आने के बाद उच्चाधिकारियों से शिकायत के बाद उपजिलाधिकारी और स्थानीय थाने के सिपाही रजनीश का तबादला कर दिया गया था। वहीं थानाध्यक्ष पर कार्रवाई के लिए उच्च अधिकारियों से वार्ता चल रही थी, इसी बीच यह घटना हो गई। मिशन द्वारा जांच की मांग किए जाने के बाद पुलिस अधीक्षक ने एडिशनल पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में जांच टीम गठित की है, जो पूरे प्रकरण की जांच करेगी। अगर न्याय नहीं मिला तो न्यायालय का दरवाजा खटखटाने की भी धमकी दी गई। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने थाने पहुंच थानाध्यक्ष से भी बात की। इसके पूर्व पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष ने खाकी बाबा की कुटी का निरीक्षण भी किया था और कहा था कि इतनी कम दूरी से कोई कैसे आत्महत्या कर सकता है। जहां शव मिला था वह सुनसान और झाड़ीदार इलाका है। पंकज की पहले हत्या की गई और फिर बाद में उसे मफलर के सहारे लटकाया गया। उन्होंने पूरे प्रकरण में उच्चस्तरीय जांच की मांग प्रशासन से की थीं। इस अवसर पर लल्लन ¨सह मंडल उपाध्यक्ष, प्रदेश उपाध्यक्ष सुभाष दुबे, कोषाध्यक्ष रजनीकांत गुप्ता, अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष हाजी अनवारुल ह़क, देवेंद्र कुमार ¨सह, मंगल चरण श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे। इनसेट--

लखनऊ जांच के लिए भेजा गया बिसरा

मानवाधिकार मिशन के प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि पंकज वर्मा के मौत की जांच कराई जाएगी। अगर जांच प्रभावित करने की पुलिस व प्रशासन कोशिश करता है तो कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जाएगा। उन्होंने बताया कि बिसरा जांच के लिए लखनऊ भेजा गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस