जागरण संवाददाता, घोसी (मऊ) : प्रशासन एवं निर्वाचन आयोग ने मतदाताओं को जागरूक करने के तमाम दावे किया है। मतदाताओं को तमाम सहूलियत दी जा रही है। पुलिस ने भी भरपूर फोर्स की व्यवस्था किया है। आज मतदान के दौरान सकुशल मतदान एवं बूथ तक अधिकाधिक मतदाताओं को लाने को लेकर आयोग एवं पुलिस दोनों की परीक्षा होगी।

अधिकाधिक मतदाताओं को बूथ तक लाने हेतु बीते कई चुनावों से आयोग ने तमाम प्रतिबंध हटा लिया है। बीएलओ घर-घर मतदाताओं हेतु पर्ची पहुंचा चुके हैं। इस पर्ची को आयोग ने पहचान पत्र के विकल्प की मान्यता प्रदान कर मतदाता सूची में दर्ज हरेक नागरिक की मुश्किल खत्म कर दी है। अब देखने वाली बात यह होगी कि पीठासीन अधिकारी एवं उनकी टीम किस गति से मतदान संपन्न कराती है कि शाम छह बजे तक सभी मतदाता ईवीएम का बटन दबा सकें। बताते चलें कि मतदान कर्मी यदि तेजी नहीं करते हैं तो कतार की लंबाई देख महिलाएं अक्सर केंद्र से दूर ही रहती हैं। उधर लाख कवायद एवं हिदायत के बावजूद बूथ पर आम मतदाता सुरक्षा बलों का अनावश्यक कोपभाजन बनते हैं तो विकलांग एवं अशक्त और बुजुर्ग मतदाता के परिजन भी इनके सवालों से बचने को बूथ तक उन्हें ढोकर लाने की जहमत नहीं उठाते हैं। बहरहाल तय है कि प्रत्याशियों की मेहनत का परिणाम भले ही 24 अक्टूबर को सार्वजनिक होगा पर आयोग एवं प्रशासन की परीक्षा का परिणाम तो आज शाम तक ही सामने होगा। उधर मौसम प्रतिकूल हुआ तो यह परीक्षा तनिक कड़ी हो जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप