जागरण संवाददाता, मऊ : जनपद में बिना विद्युत बिल जमा किए उपभोग करने वाले उपभोक्ताओं की अब खैर नहीं हैं। शासन की सख्त निर्देश के बाद विभाग अब पूरी तरह से चौकन्ना हुआ है। वसूली के लिए कुल 13 टीमों का गठन किया गया है। यह टीमें विद्युत वितरण खंड द्वितीय के विभिन्न क्षेत्रों में आकस्मिक चेकिग व छापेमारी कर न सिर्फ विद्युत बिल वसूलेगी बल्कि अवैध रूप से चल रहे लोगों के कनेक्शन भी विच्छेदित किए जाएंगे। बिल जमा न करने वाले उपभोक्ताओं की लाइन काट दी जाएगी। ऐसे में विद्युत चोरी करने वाले उपभोक्ता अपने रवैये से बाज आए। विभाग इनके खिलाफ एफआइआर करने की तैयारी कर रहा है। विद्युत वितरण खंड द्वितीय में कुल 1 लाख 24 हजार कनेक्शनधारी उपभोक्ता हैं। इसमें से केवल 16 हजार उपभोक्ता ही अनवरत विद्युत बिल जमा करते हैं। करीब 39000 उपभोक्ता कभी बिल जमा करने आते ही नहीं हैं। लगभग 70 हजार उपभोक्ता बिना बिल जमा किए ही विद्युत का उपभोग कर रहे हैं। ऐसे में विद्युत विभाग पूरी तरह घाटे में चला गया है। इसकी वजह से शासन सख्त हो गया है।

----------------

2.50 करोड़ हुई है वसूली

विभाग की मानें तो बिना बिल जमा करने वाले विद्युत उपभोक्ताओं से अब तक 2.50 करोड़ की वसूली विभाग द्वारा की गई है। इसके अलावा करीब 25000 उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे जा चुके हैं। 250 लोगों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराई जा चुकी है। इसमें जून माह में 20, जुलाई में 70, अगस्त में 95 व सितंबर में 65 उपभोक्ता शामिल हैं।

इन क्षेत्रों में विभाग की चलेगी छापेमारी

मुहम्मदाबाद गोहना, रानीपुर, चिरैयाकोट, डंगोली, वलीदपुर, कोपागंज, रतनपुरा, हलधरपुर, सेमरी जमालपुर, कोपागंज सहित ग्रामीण क्षेत्रों के तमाम उपकेंद्रों पर जेई व लाइनमैन की टीम गठित कर दी गई है। ये लोग चेकिग, छापेमारी कर विद्युत बिल जमा करवाएंगे और न जमा करने वालों के कनेक्शन काटे जाएंगे।

विद्युत बिल जमा न करने वाले उपभोक्ता खुद-ब-खुद अपनी बिलों को जमा कर विभाग का सहयोग करें। अगर जल्द से जल्द वह अपना बिल जमा नहीं करेंगे तो उनके विरुद्ध अभियान चलाकर एफआइआर दर्ज कराई जाएगी। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

--दिग्विजय सिंह, अधिशासी अभियंता।

Edited By: Jagran