जागरण संवाददाता, मऊ : सिविल कोर्ट सेंट्रल बार एसोसिएशन के वर्ष 2022-23 की एक वर्षीय कार्यकारिणी के अध्यक्ष, मंत्री सहित कुल 10 पदों पर शुक्रवार को 12 टेंडर मत डाले गए। सभी पदों पर मतदान 24 जनवरी को होगा, अगले दिन मतगणना की जाएगी। 1034 सदस्यों वाले एसोसिएशन के अध्यक्ष पद पर चार तथा मंत्री पद के लिए तीन प्रत्याशियों के बीच मुकाबला है।

अध्यक्ष पद पर लालजी पांडेय कई बार अध्यक्ष व महामंत्री पद पर काबिज रहे हैं। इस बार भी वे मुख्य संघर्ष में हैं। इस पद के दूसरे प्रत्याशी विरेंद्र बहादुर पाल एक बार अध्यक्ष रह चुके हैं। वहीं तीसरे प्रत्याशी विरेंद्र प्रताप यादव पहली बार पूरे जोश-खरोश से लगे हैं। चौथे दावेदार संजय कुमार त्रिपाठी एक बार महामंत्री पद को सुशोभित कर चुके हैं तथा इस पद को चतुष्कोणीय बनाने में लगे हैं। इन चार प्रत्याशियों के बीच अध्यक्ष पद के लिए मुख्य मुकाबला है। महामंत्री पद पर पहली बार भाग्य आजमा रहे ऋषिकेश सिंह व तीसरी बार प्रयासरत प्रत्याशी लक्ष्मीकांत यादव व दो बार महामंत्री रह चुके हरिद्वार राय के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर गजलकार अशोक कुमार, युगेश गुप्ता व सुधीर मल्ल के बीच कड़ा मुकाबला है। साधारण उपाध्यक्ष पर चार, कनिष्ठ व कोषाध्यक्ष पर दो-दो प्रत्याशियों व संयुक्त मंत्री के तीन पद पर चार उम्मीदवारों में संघर्ष है। इन पदों पर किसे जीत मिलती है यह 24 को मतदान व 25 जनवरी को मतगणना के बाद ही पता चलेगा।

सिविल कोर्ट सेंट्रल बार की मतदाता सूची में पूर्व महामंत्री दारोगा सिंह सहित चार अधिवक्ताओं का नाम एल्डर कमेटी ने बढ़ा दिया है। चेयरमैन दीनानाथ यादव ने बताया कि 1032 सदस्यों की सूची बार के महामंत्री अजय सिंह द्वारा दी गई थी। इसमें दो नाम डबल प्रिट था। जिसे डिलीट किया गया। वहीं महामंत्री ने दरोगा सिंह सहित चार लोगों की अलग सूची दी थी उक्त सदस्यों को बार कौंसिल के नियुक्त चुनाव पर्यवेक्षक बार कौंसिल सदस्य हरिशंकर सिंह की संस्तुति पर मतदाता सूची में चारों का नाम अंकित किया गया है। अब कुल सदस्य 1034 हो गए हैं, जो 24 जनवरी को अपने मत का प्रयोग करेंगे।

Edited By: Jagran