मथुरा, जासं। मल्लों की जमीं मथुरा में सोमवार को सैंकड़ों पहलवानों का महासंग्राम देखने को मिला। विभिन्न प्रदेशों से आए पहलवानों ने बेहतरीन कुश्ती का प्रदर्शन किया। देर रात तक रोमांचक मुकाबलों का दौर चलता रहा। इस दौरान बड़ी संख्या में खेल प्रेमी मौजूद रहे। खबर लिखे जाने तक 91 खिलाड़ी क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर चुके थे। मंगलवार को फाइनल मुकाबले होंगे।

जीएलए विश्वविद्यालय और उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद के तत्वावधान में विवि के ऑडिटोरियम में सोमवार को श्री दाऊजी महादंगल शुरू हुआ। सुबह से शुरू हुए पुरुष और महिला वर्गों के मुकाबले देर रात तक चलते रहे। दिल्ली, गुजरात, मप्र, उप्र, हरियाणा, महाराष्ट्र के पहलवानों ने बेहतरी प्रदर्शन कर प्री मुकाबलों में जीत का सेहरा अपने सिर पर बांधा।

दंगल में पहुंचे आगरा डीआइजी लव कुमार ने कहा कि इस बात की खुशी है कि दंगल में महिला पहलवानों ने भी बड़ी संख्या में भागल लिया। इसमें पूरे भारत वर्ष की अंतरराष्ट्रीय पदक विजेताओं ने भाग लिया है। जीएलए कुलाधिपति नारायण दास ने कहा कि विवि हमेशा ही छात्रों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है।

मुकाबलों के शुभारंभ से पहले सभी ने गोवा के मुख्यमंत्री के निधन पर एक मिनट का मौन रखा। निधन के कारण प्रतियोगिता का विधिवत शुभारंभ कल होगा। सोमवार को मुकाबलों का शुभारंभ विवि के कुलाधिपति नारायण दास अग्रवाल, क्षेत्राधिकारी छाता जगदीश कालीरमण, एग्जीक्यूटिव काउंसिल के सदस्य विवेक अग्रवाल, डीन एकेडमिक प्रो. अनूप कुमार गुप्ता, कुलसचिव अशोक कुमार सिंह, प्रशासनिक अधिकारी दीपक गौड़, धर्मेंद्र कुलश्रेष्ठ ने किया। ये स्टार पहलवान पहुंचे

निक्की (हरियाणा) कॉमनवेल्थ चैम्पियन, नैना (हरियाणा) भारत केसरी 76 किग्रा भार वर्ग, पूजा यादव (उप्र) अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी, सोनम (हरियाणा) जूनियर व‌र्ल्ड चैम्पियन 2018, प्रीती (पंजाब) कॉमनवेल्थ चैम्पियन, अनु (हरियाणा) एशियन चैम्पियनशिप रजत पदक विजेता। पुरुषों में अशोक (दिल्ली) एशियन जूनियर चैम्पियनशिप कांस्य पदक विजेता, विनोद (रेलवे) अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी इन्होंने किया क्वार्टर फाइनल में प्रवेश

-महिला

- 76 किग्रा भार वर्ग में: 08

- 53 किग्रा भार वर्ग में: 11

- 62 किग्रा भार वर्ग में: 06 - पुरुष

- 125 किग्रा भार वर्ग में: 09

- 61 किग्रा भार वर्ग में: 26

- 74 किग्रा भार वर्ग में: 23

- 84 किग्रा से अधिक भार वर्ग में: 08 सात खिलाड़ियों ने छोड़ा रण:

दंगल में मथुरा के लगभग सात खिलाड़ियों ने नामांकन तो कराया, लेकिन कुश्ती के लिए नहीं आए। इसकी एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मंच से आलोचना भी की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस