जागरण संवाददाता, मथुरा: पिछले तीन दिन से कोहरा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। शाम होने के साथ ही कोहरे की सफेद चादर राष्ट्रीय राजमार्ग से लेकर गली मुहल्लों तक अपना कब्जा कर लेती है। दृश्यता शून्य हो जाती है। राहगीरों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। हालांकि दोपहर के समय जरूर थोड़ी देर के लिए सूर्यदेव दिखाई देते हैं। ठंड के लगातार बढ़ रहे प्रकोप के चलते जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने कक्षा 12वीं तक बच्चों का दो दिन का अवकाश घोषित कर दिया है।

मंगलवार को अधिकतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम 5.5 डिग्री रहा। आ‌र्द्रता 100 रिकॉर्ड की गई। भोर में कोहरे की सफेद चादर को देखकर लोग घरों से बाहर नहीं निकले। दृश्यता शून्य होने की वजह से लोग सुबह वॉक पर भी नहीं निकले, जो लोग छह बजे करीब बाहर गए भी थे। वह बहुत ज्यादा दूर तक वॉक नहीं कर सके। उनका कहना था कि आसमान से रिमझिम हो रही है। कोहरे में पानी की बूंद सी टपक रही थी। इससे सड़क ऐसी लग रही थी कि मानों रात भर बारिश हुई हो। बहरहाल, सुबह करीब नौ बजे तक सड़कों पर सन्नाटा छाया हुआ देखने को मिला। एक्सप्रेस वे और राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहन रेंगरेंग कर चल रहे थे। दोपहर करीब 12 बजे के बाद सूर्यदेव ने अपने दर्शन किए। लोग घरों से बाहर निकले। शीतलहर और कोहरे को लेकर जिलाधिकारी को जो रिपोर्ट मिली। उसके आधार पर उन्होंने कक्षा 12वीं तक के छात्र छात्राओं का दो दिन का अवकाश घोषित कर दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस