गोवर्धन(मथुरा), संसू। गोवर्धन क्षेत्र के गांव अड़ींग में बारिश के पानी से लगभग बीस एकड़ धान की फसल नष्ट होने के कगार पर है। खेतों में भरे पानी में धान की फसल गिरकर डूबने से नष्ट हो रही है। दर्जनों किसानों ने रोष प्रकट करते हुए प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर जलभराव की समस्या से निजात पाने की मांग की है।

शनिवार को खेत में खड़े होकर प्रदर्शन करते हुए किसानों ने बताया कि यहां अवैध कुलावों के खुलने के कारण खेतों में पानी भर गया है। जिसे लेकर गांव अड़ींग के किसानों ने विभागीय अधिकारियों को भी अवगत करा दिया लेकिन अभी तक जलभराव की समस्या का कोई समाधान नही हुआ है। जगदीश पचौरी ने बताया कि यह समस्या किसानों की कोई नई समस्या नहीं है, किसान इस समस्या को कई वर्षों झेलते चले आ रहे हैं।

कन्हैया कटारा ने कहा कि जलभराव की समस्या को लेकर गोवर्धन एसडीएम से भी मिले लेकिन अभी तक किसानों की कोई सुनवाई नहीं हो सकी। उन्होंने कहा कि सरकारी बैंकों ने किसानों से फसल बीमा के नाम पर हर वर्ष खाते से रुपये काटे है । बीमा कंपनी या सरकार किसानों के नुकसान की भरपाई करे, अन्यथा किसान सड़क पर उतर आंदोलन करने को मजबूर होंगे। एसडीएम राहुल यादव ने बताया कि लेखपालों की टीम को सर्वे के लिए भेजा जा रहा है। समस्या का जल्द समाधान किया जाएगा। इस दौरान जगदीश पचौरी, कन्हैया कटारा, डोली लाल सैनी, यादराम सैनी, भोला पंडित, महादेव शर्मा, मुकेश सैनी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस