संवाद सूत्र, सुरीर: सीएमओ डा. रचना गुप्ता रविवार को पीएचसी सुरीर पर स्वास्थ्य मेला का औचक निरीक्षण करने पहुंच गई। ग्रामीणों ने क्षेत्र में महामारी की तरह फैल रहे डेंगू और बुखार की रोकथाम व इलाज की अव्यवस्था पर सवाल उठाते हुए उनसे पीएचसी सुरीर पर जांच व इलाज की समुचित सुविधा मुहैया कराने की मांग की। सीएमओ ने कहा कि पीएचसी पर समुचित व्यवस्था है। अगर कोई परेशानी सामने आ रही है तो उसे दूर किया जाएगा।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सुरीर पर रविवार को स्वास्थ्य मेला का आयोजन हुआ। इसका निरीक्षण करने के लिए सीएमओ डा. रचना गुप्ता पहुंची। सीएमओ के आने की सूचना पर भाकियू लोकशक्ति के मंडल उपाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह राजपूत, रामप्रकाश शर्मा, प्रेमचंद्र शर्मा साक्षी, कपिल भाटिया व अजय कुमार समेत ग्रामीण पीएचसी पर पहुंच गए। उन्होंने सीएमओ से कहा कि डेंगू व बुखार का प्रकोप महामारी की तरह फैल रहा है, लेकिन सुरीर पीएचसी पर इलाज व जांच की समुचित सुविधा का अभाव है। डेंगू व बुखार के मरीज प्राइवेट डाक्टरों के यहां इलाज कराने को मजबूर हैं। सीएमओ डा. रचना गुप्ता ने ग्रामीणों की बात सुनने के बाद कहा कि सुरीर समेत सभी सरकारी अस्पतालों में इलाज की समुचित व्यवस्था है। इसके लिए लोगों के मन में विश्वास जगाने की जरूरत है। डेंगू कोई लाइलाज बीमारी नहीं है, इसके लिए हर मरीज पर ग्लूकोज की बोतल चढ़ाने की भी जरूरत नहीं है। पैरासिटामोल व भरपूर पानी पीना सबसे बढि़या इलाज है। उन्होंने कहा कि 20 हजार तक प्लेटलेट्स होने पर भी मरीज को कोई खतरा नहीं है। नाक-मुंह आदि से ब्लीडिग होने पर ही मरीज को प्लेटलेट्स चढ़ाने की जरूरत होती है। उन्होंने सुरीर पीएचसी पर भी मरीजों की जांच व इलाज की सुविधा बढ़ाने का भरोसा दिया। सीएचसी नौहझील प्रभारी डा. शशिरंजन, डा. शक्ति सिंह, फार्मासिस्ट डा. शिवकुमार शर्मा, अरुणेश वाष्र्णेय, अवधेश कुमार आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran