मथुरा: राजकीय बाल गृह शिशु में बच्चों में फैल रही बीमारी पर नियंत्रण नहीं हो पा रहा है। शनिवार को दो और बच्चे बीमार हो गए। जिला अस्पताल में भर्ती तीन अन्य बच्चों की हालत चिताजनक होने पर शुक्रवार रात उन्हें आगरा रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल के चिकित्सकों की टीम ने राजकीय बाल गृह शिशु पहुंच बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया।

राजकीय बाल गृह शिशु में पांच दिन पहले बच्चों में डायरिया फैला था। इसकी चपेट में अब तक डेढ़ दर्जन बच्चे आ चुके हैं। इनमें से दो की मौत हो गई, जबकि 16 बच्चों का उपचार मथुरा और आगरा के अस्पतालों में चल रहा है। शनिवार को एक वर्षीय कृष्णा और चार माह की माया की तबियत अचानक खराब हो गई। दोनों को उल्टी-दस्त शुरू हो गए। उनको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं, जिला अस्पताल में पहले से भर्ती 10 वर्षीय पिकू, खुशबू और सात वर्षीय बालिका पूर्वा की रात को हालात नाजुक हो गई। तीनों को उपचार के लिए रात में ही एसएन मेडिकल कॉलेज आगरा रेफर किया गया है। स्थानीय जिला अस्पताल में वैष्णवी, सोनू, लवली, गौरव, सुदामा, गुड्डी और डॉली का उपचार चल रहा है। आगरा में कृष्णा, गिर्राज, द्वारिका, अपूर्वा, पिकी, खुशबू और कबीर का उपचार चल रहा है। शनिवार को जिला अस्पताल के चिकित्सक डॉ. अमन कुमार और डॉ. केके माथुर ने बाल गृह शिशु पहुंच कर सभी बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। इसके बाद बच्चों की देखभाल कर रहे कर्मचारियों को भी खानपान को लेकर ख्याल रखने की सलाह दी। साथ ही कहा कि बच्चों की लगातार निगरानी की जाए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप