वृंदावन: ठा. बांकेबिहारी की नगरी में हर दिन हजारों श्रद्धालु-पर्यटक दर्शन को आते हैं। वृंदावन से देश के दूसरे बड़े शहरों की बात छोड़ दें तो भी मथुरा और वृंदावन के बीच भी परिवहन विभाग अपनी सेवाएं देने में कामयाब नहीं हो पा रहा है। इसका सीधा फायदा अवैध रूप से दौड़ रहे टेंपो चालक उठा रहे हैं। इसपर भी आरटीओ और पुलिस की अनदेखी का फायदा मथुरा-वृंदावन के बीच दौड़ रहे करीब तीन हजार टेंपो चालक यातायात नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। मथुरा-वृंदावन के बीच दौड़ रहे आधे टेंपोकी स्टेयरिग नाबालिगों के हाथ में है। मथुरा से वृंदावन मार्ग पर दौड़ रहे करीब तीन हजार टेंपो में करीब आधे टेंपो की स्टेयरिग नाबालिग किशोरों के हाथ में है। यही कारण है कि आए दिन मथुरा-वृंदावन के बीच फर्राटा भरते टेंपो दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। ओवरलोड होकर तेजगति दौड़ते टेंपो या तो पलट जाते हैं या फिर आपस में भिड़ जाते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप