बरसाना(मथुरा), संसू। देश व दुनिया में राधा नाम का प्रचार-प्रसार करने वाले ब्रज के विरक्त संत रमेश बाबा के सानिध्य में शुक्रवार को 40 दिवसीय ब्रज चौरासी कोस की राधारानी ब्रजयात्रा का शुभारंभ होगा। इसमें भाग लेने के लिए हजारों की संख्या में श्रद्धालु मान मंदिर पहुंच रहे हैं। गुरुवार देर शाम तक करीब 10 हजार लोगों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है।

30 वर्षों से भक्तों को ब्रज चौरासी कोस की निश्शुल्क यात्रा करा रहे संत रमेश बाबा की राधारानी ब्रजयात्रा इस बार भी 11 अक्टूबर की सुबह मानमंदिर गहवरवन से संकल्प के साथ शुरू होगी। 40 दिवसीय ब्रजयात्रा के दौरान 30 पड़ावों में श्रद्धालु ब्रज के चौरासी कोस के विभिन्न तीर्थ स्थलों के दर्शन करेंगे। मान मंदिर के सचिव सुनील सिंह ने बताया कि ब्रजयात्रा में करीब 20 हजार श्रद्धालु भाग लेंगे। अभी तक 20 हजार लोगों का रजिस्ट्रेशन किया गया है। यात्रा में विभिन्न जाति व भाषाओं का समावेश देखने को मिलेगा। ब्रजयात्रा में ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, बंगलादेश व नेपाल देश के अलावा मध्य प्रदेश, बंगाल, बिहार, ओडिशा, असोम, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, दिल्ली, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, झारखंड आदि राज्यों के हजारों श्रद्धालु ब्रज चौरासी कोस की यात्रा करते हैं। गाड़ी से यात्रा करेंगे रमेश बाबा:

खराब स्वास्थ्य के चलते इस बार भी ब्रज के विरक्त संत रमेश बाबा ब्रजयात्रा के दौरान गाड़ी से पड़ावों पर पहुंचकर अपने भक्तों को प्रवचन देंगे और शाम को वापस मान मंदिर आ जाएंगे। रस मंदिर पर बनेगा यात्रा का खाना:

ब्रज चौरासी कोस की यात्रा के दौरान ब्रजयात्रियों के लिए खाना रस मंदिर पर ही तैयार किया जाएगा। रोजाना गाड़ियां द्वारा यात्रा के पड़ाव स्थल पर भोजन पहुंचेगा। इस दौरान 25 हजार लोगों के लिए मशीनों से रोटी तैयार की जाएगी। मानपुर के घर-घर में रोटी होंगी तैयार:

राधारानी ब्रजयात्रा में हजारों श्रद्धालुओं के लिए मानपुर के घर-घर में चूल्हे की रोटी तैयार कराई जाएगी। करीब एक दिन 12 कुंतल आटे की रोटी तैयार होगी। रोटी बनाने वाली गृहणियों को मान मंदिर सेवा संस्थान शुल्क भी प्रदान करता है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप