बरसाना, संसू। ब्रज के परम रसिकों की समाधी स्थल पर भजन सम्राटों द्वारा सुर लय के मधुर संगीत से उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस दौरान राधे राधे के जयकारों से सम्पूर्ण वातावरण गुंजयमान हो उठा।

राधारानी को पुत्री स्नेह से प्यार करने वाले ब्रजाचार्य श्रील नारायण भट्ट की समाधी स्थल पर ऊंचागांव में भजन संध्या हुई। इस दौरान ब्रज रसिक मधुकर व सूफी गायिका शशि सखी के मधुर भजन मुझे मेरी मस्ती कहा लेकर आई, वो हटा रहे पर्दा आदि के भजन प्रस्तुत किए गए। वहीं श्रील नारायण भट्ट की समाधी स्थल को फूलों से सजाया गया। कार्यक्रम में श्रद्धालुओं का तांता लग गया और मधुर भजनों की धुन पर श्रद्धालु थिरकते नजर आ रहे थे। पत्रकारों से बात करते हुए भजन सम्राट मधुकर ने बताया कि ब्रज के तमाम रसिकों की समाधी स्थल पर रसोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। जिसके चलते इन रसिकों के बारे में लोगो को ज्यादा से ज्यादा पता चले। ब्रजाचार्य पीठ के पीठाधीश्वर गोस्वामी उपेन्द्र नारायण भट्ट, प्रवक्ता घनश्यामराज भट्ट, नित्यानन्द बाबा, दिलीप भट्ट, पण्डित बाबा आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस