संवाद सहयोगी, मथुरा : नेशनल हाईवे के किनारे पंजाबी रसोई के संचालक ने बरसात का जमा पानी निकालने को फावड़ा चलाया तो 33केवी की भूमिगत लाइन कट गई। कृष्णा नगर बिजली घर से जुड़े फीडरों की बिजली आपूर्ति दस घंटे तक ठप रही। उमस भरी गर्मी में 14 हजार उपभोक्ताओं के परिवार बेहाल हो गए। देर शाम आपूर्ति सुचारू हो सकी।

मंगलवार रात बारिश से पंजाबी रसोई के सामने जलभराव हो गया। बुधवार सुबह इसके संचालक राहुल ने फावड़े से जलनिकासी की व्यवस्था की कोशिश की, तभी खोदाई से 33 केवी की केबिल डैमेज हो गई। जेई रवि मौर्या व अन्य लोग मौके पर पहुंच गए। लाइन की पेट्रोलिग की गई। कृष्णा नगर बिजली घर से जुड़े 14 हजार से अधिक उपभोक्ताओं की बिजली गुल हो गई। बुधवार को दिन में उमस भरी गर्मी थी, ऐसे में बिना बिजली लोग बेहाल हो गए। करीब दस घंटे बाद शाम छह बजे बिजली सुचारू हुई। अन्य इलाकों में भी गुल रही बिजली

मंगलवार रात बारिश से शहर के अन्य हिस्सों में भी बिजली सिस्टम गड़बड़ा गया। राधिका विहार की लाइन में भी ब्रेक डाउन हुआ। तीन घंटे से अधिक बिजली बंद रही। सराय आजमाबाद क्षेत्र में भी फाल्ट की सूचना मिली। मेवाती मुहल्ला, डीग गेट, मनोहरपुरा, दरेसी रोड, चौक बाजारा, भरतपुर गेट, घीया मंडी आदि क्षेत्रों में कई घंटे बिजली गुल रही। कोसीकलां में उड़ा फेस

संसू, कोसीकलां : मंगलवार रात 11 बजे शेरगढ़ तिराहे के समीप विद्युत पोल का फेस उड़ गया। इससे सप्लाई बाधित हो गई। महेंद्र मंगला ने बिजली घर पर शिकायत की, लेकिन कर्मचारी फाल्ट ठीक करने नहीं पहुंचे। बिना बिजली के लोगों ने रात बिताई। जूनियर इंजीनियर अशोक कुमार यादव ने बताया कि फीडरों पर क्षमता से अधिक लोड है। वर्जन-

केबिल खोदाई में कट गई थी। इससे आपूर्ति बाधित रही। रसोई के संचालक के खिलाफ हाईवे थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई जा रही है।

रमेश सोनी, एसडीओ कृष्णा नगर

Edited By: Jagran