जागरण संवाददाता, मथुरा: जेई प्रदीप कुमार की हत्या के मामले में हिरासत में लिए गए चार संदिग्धों ने मंगलवार को एडीजी अजय आनंद के सामने महत्वपूर्ण राज उगले। मगर, हत्याकांड के पर्दाफाश के लिए कई कड़ियां अभी अधूरी हैं। पुलिस सुबूत एकत्र करने के लिए अब इन कड़ियों को जोड़ रही है। एडीजी ने दावा किया कि जल्द ही घटना का पर्दाफाश होगा।

पानी गांव सब स्टेशन से लौटते वक्त गुरुवार रात जूनियर प्रदीप कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। घटना के पांच दिन बाद पुलिस अहम सुराग हाथ लगने का दावा कर रही है।

मंगलवार को एडीजी अजय आनंद ने घटनास्थल का निरीक्षण करने पहुंचे। उनके साथ आइजी ए. सतीश गणेश और एसएसपी शलभ माथुर भी रहे। एडीजी ने करीब 30 मिनट तक पुलिस की गिरफ्त में आए चारों शातिरों से पूछताछ की। माना जा रहा है कि शातिरों ने एडीजी के सामने अहम राज उगले हेैं। अधिकारियों को शातिरों से जो जानकारी मिली है, उस पर अभी और कार्य करने की भी आवश्यकता भी एडीजी ने जताई। एडीजी और आइजी ने पुलिस के अफसरों से वार्ता करने के बाद पर्दाफाश करने से पहले कुछ तथ्यों की पूरी तरह से तस्दीक करने को कहा है। उन्होंने कहा कि कुछ तथ्यों की तस्दीक कराई जा रही है। हत्यारे जल्द ही सलाखों के पीछे होंगे।

एसपी सुरक्षा ज्ञानेंद्र सिंह और एसपी सिटी अशोक कुमार मीणा घटना के बाद से ही थाना जमुनापार पर कैंप कर रहे हैं। मिल रहे इनपुट पर तत्काल काम करने को अधीनस्थों को मार्गदर्शन दिया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस