मथुरा, जेएनएन। भगवान कृष्ण की नगरी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बिल्कुल अलग अंदाज में थे। यहां के वृंदावन में उन्होंने अक्षयपात्र के एक कार्यक्रम में बच्चों को अपने हाथ से भोजन कराया।

वृंदावन में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने हाथ से बच्चों को खाना परोसा। इतना ही नहीं, एक छोटे बच्चे को तो उन्होंने चम्मच से खाना भी खिलाया। पीएम नरेंद्र मोदी आज राज्यपाल राम नाईक व सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ वृंदावन में अक्षय पात्र फाउंडेशन के एक कार्यक्रम में पहुंचे थे। इस दौरान पीएम मोदी ने गरीब व वंचित वर्ग के बच्चों को अपने हाथों से खाना परोसकर खिलाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्कूली बच्चों को थाली परोसी और खुद भी उनके साथ बैठकर भोजन किया। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री ने बच्चों के साथ जमकर हंसी-ठिठोली की और उन्हें अपने हाथों से खाना भी खिलाया।

अक्षयपात्र एक गैर-लाभकारी संस्था है जो गरीब स्कूली बच्चों को मिड डे मील उपलब्ध कराती है। आज इस फाउंडेशन के तीन अरब थाली के मुकाम तक पहुंचने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी ने बच्चों को खाना परोसा। अक्षयपात्र को दुनिया की सबसे बड़ी रसोई के तौर पर भी जाना जाता है।

यहां एक घंटे के भीतर हजारों रोटियां और टनों सब्जियां-चावल तैयार कर लिया जाता है और सरकारी स्कूलों व सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के बच्चों को भेज दिया जाता है।

पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में कहा कि जो दान कर्तव्य समझकर बिना किसी उपकार की भावना से, उचित स्थान से, उचित समय पर योग्य व्यक्ति को दिया जाता है, उसे सात्विक दान कहते हैं। पीएम मोदी ने शक्तिशाली भारत की इमारत के लिए पोषित और स्वस्थ बचपन की नींव को जरूरी बताया। पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार बच्चों के लिए स्वस्थ और पौष्टिक आहार सुनिश्चित कर रही है। पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने बचपन के चारों तरफ खानपान, टीकाकरण और स्वच्छता से सुरक्षा घेरा बनाने की कोशिश कर रही है। 

Posted By: Dharmendra Pandey