जागरण संवाददाता, मथुरा: आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना के तहत आज जिले के 300 लाभार्थियों को प्रधानमंत्री से हस्ताक्षरित पत्रों का वितरण किया गया। इस योजना में जिले के 1 लाख 11 हजार परिवारों को पांच लाख रुपये तक के निश्शुल्क इलाज का लाभ मिलेगा। शेष बचे परिवारों को ब्लॉक और ग्राम पंचायत स्तर पर पत्रों का वितरण किया जाएगा।

वेटेरिनरी विश्वविद्यालय के किसान भवन में एक समारोह में जिला के प्रभारी मंत्री चौधरी भूपेंद्र ¨सह ने लाभार्थियों को पत्र बांटे। उन्होंने कहा कि गरीबों को इलाज मुहैया कराने के लिए यह केंद्र सरकार की सबसे बड़ी योजना है। चयनित परिवार सूचीबद्ध 1350 बीमारियों का साल में पांच लाख रुपये तक का इलाज इसके लिए निर्धारित किए गए अस्पतालों में करा सकेंगे। जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्रा ने स्वास्थ्य और जिला प्रशासन के अधिकारियों से इस योजना का खूब प्रचार-प्रसार करने को कहा। उन्होंने अगले 20 दिन में चयनित हर शख्स तक पत्र को पहुंचा देने का लक्ष्य रखा। सीएमओ शेर¨सह ने कहा कि जिले में तीन जिला अस्पताल और तीन निजी अस्पतालों को अभी इस योजना में चयनित किया गया है। विधायक गोवर्धन का¨रदा ¨सह और बलदेव पूरन प्रकाश ने योगी और मोदी सरकार की योजनाओं को जनकल्याणकारी बताया। समारोह में सीडीओ रामनिवास गुप्ता, एसएसपी बबलू कुमार, भाजपा जिलाध्यक्ष नगेंद्र सिरकवार, डॉ. राजीव, डॉ. वीके गुप्ता, मथुरा और नौहझील के ब्लाक प्रमुख मौजूद रहे। संचालन डॉ. दिलीप ने किया।

-तीस रुपये में बनेगा गोल्डन कार्ड-

प्रधानमंत्री से हस्ताक्षरित इस पत्र से इलाज नहीं मिलेगा। यह केवल आश्वस्ति है कि इस परिवार का चयन इस योजना में किया गया है। इसके बाद उस परिवार को किसी जनसुविधा केंद्र पर जाकर वोटर आइडी, आधार कार्ड, राशन कार्ड और मोबाइल नंबर में से किसी एक से वैरीफिकेशन के बाद अपना गोल्डन कार्ड बनवाना होगा। यह कार्ड मरीज के भर्ती होने के समय बनवाना होगा। इसके बाद ही इलाज मिल सकेगा।

--पत्र ही नहीं प्रचार भी--

आयुष्मान में लाभार्थियों को बांटे जा रहे पत्र योजना का कोई आधिकारिक पत्र नहीं है। इस बहाने सरकार ने अपनी तमाम योजनाओं का प्रचार जनता तक पहुंचाया है। इस पत्र में प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री वय वंदना योजना, सुरक्षा बीमा योजना, आवास योजना, सौभाग्य योजना, मुद्रा योजना का जिक्र किया गया है।

Posted By: Jagran