गोवर्धन (मथुरा): ठाकुर बांके बिहारी मंदिर के दर्शन का समय बढ़ाए जाने मसला अभी सुलझ नहीं सका है और दूसरी तरफ गिरिराजजी के शयन के समय को लेकर नया विवाद खड़ा हो गया है। शुक्रवार को यह मामला एसडीएम तक पहुंच गया। प्रतिनिधि मंडल ने गिरिराज जी के शयन का समय सुनिश्चित किए जाने की मांग को लेकर ज्ञापन दिया है।

गोवर्धन में गिरिराजजी के दानघाटी मंदिर में प्रभु के शयन का कोई समय तय नहीं है। उनके शयन का समय तय कराने को लेकर गिरिराजजी के भक्त गौतम खंडेलवाल, ज्ञानेंद्र राणा, विजय राघव आदि मांग उठा रहे हैं। शुक्रवार को खंडेलवाल प्रतिनिध मंडल को लेकर मंदिर प्रबंधक डालचंद चौधरी से मुलाकात करने और अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए दानघाटी मंदिर पहुंचे। मंदिर प्रबंधक कार्यालय में मौजूद नहीं थे। उन्होंने प्रबंधक से कॉल कर फोन पर बातचीत की, लेकिन कोई संतोषजनक जबाव नहीं मिला। उनका कहना था कि मंदिर प्रबंधक ने इस मामले में हस्तक्षेप से साफ इन्कार कर दिया। प्रतिनिधि मंडल इस मामले को एसडीएम डीपी ¨सह के सामने रखा। उनको लिखित ज्ञापन भी दिया और मंदिर में ठाकुरजी के शयन का समय तय किए जाने की मांग की। इसी संबंध में एक ज्ञापन थानाध्यक्ष प्रभारी पीके मलिक को भी दिया गया है।

खंडेलवाल का कहना है कि इस तरफ ध्यान नहीं दिया गया तो भक्त मंदिर प्रबंधक के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे। ज्ञानेंद्र राणा का कहना था कि प्रबंधक को प्रभु के शयन का समय निश्चित करना चाहिए। विजय राघव ने कहा कि गिरिराज महाराज की सेवा में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जा सकती। श्याम सुंदर उपाध्याय ने आरोप लगाया कि चंद पैसे की खातिर मंदिर की मर्यादा को तोड़ा जा रहा है। समाजसेवी जीआर शर्मा ने प्रभु का शयन न कराए जाने को की भक्तों की भावना से खिलवाड़ बताया।

---------

मेरे पास कोई शिकायत नहीं है, गिरिराजजी के 11 अथवा 11:30 तक शयन हो जाते हैं।

डालचंद चौधरी, मंदिर प्रबंधक

----------

शिकायत प्राप्त हुई है। उससे उच्चाधिकारियों को अवगत कराकर आवश्यक कदम उठाया जाएगा।

डीपी ¨सह, एसडीएम

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस