मथुरा, जासं। केंद्रीय पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि आज सौभाग्य का दिन है कि भगवान श्रीकृष्ण की भूमि से पशुओं और पशुपालकों के कष्टों का समाधान होने जा रहा है।

राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण एवं देशव्यापी कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम के शुभारंभ समारोह को केंद्रीय मंत्री संबोधित कर रहे थे। वेटेरिनरी कॉलेज में हुए समारोह में उन्होंने कहा कि आधुनिक भारत में पशुओं और पशु पालकों की यदि किसी ने चिता की है तो वह हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। इससे पूर्व उन्होंने प्रधानमंत्री, केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, राज्यमंत्री संजीव कुमार बालियान, राज्यमंत्री रतन लाल कटारिया, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और यूपी भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह का स्वागत किया। कहा कि आज के कार्यक्रम से देशभर में 51 करोड़ पशुओं को टीकाकरण से सीधा लाभ होगा। अब तक भारत से जो मांस विदेशों में भेजा जाता था, उसे रिजेक्ट कर दिया जाता था। टीकाकरण के बाद पशु स्वस्थ रहेंगे और उनका मांस भी विदेशों में निर्यात किया जा सकेगा। उन्होंने कृत्रिम गर्भाधान योजना के संबंध में कहा कि अब तक गाय के बछिया होने पर खुशी मनाई जाती थी, जबकि पड्डा होने पर उसे खुले में छोड़ दिया जाता था, अब ऐसा नहीं होगा। कृत्रिम गर्भाधान से केवल बछिया ही होगी और इसका लाभ किसान को दूध के रूप में मिलेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री को आश्वस्त किया कि आपके आदेश पर सरकार ने टेक्नोलॉजी का जो सहारा लिया है, उससे दुधारू पशुओं गाय, भैंस, भेड़, बकरी आदि का टीकाकरण किया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप