मथुरा : श्रीकृष्ण जन्मस्थान और द्वारिकाधीश मंदिर में रविवार को नंदोत्सव मनाया गया। लाला के जन्म की खुशी में उपहार स्वरूप मेवे, फल, खिलौने आदि लुटाए गए। भगवान का यह प्रसाद लुटने के लिए श्रद्धालुओं में होड़ मची रही। नंदोत्सव में श्रद्धालु जमकर झूमे।

श्रीकृष्ण जन्मस्थान के भागवत भवन को नंदभवन का स्वरूप दिया गया था। शास्त्रीय मान्यताओं, श्रुतियों, स्मृतियों के आधार पर नंदभवन में भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिवस पर बधाई गायन, नृत्य, संकीर्तन से भागवत भवन गुंजायमान हो उठा। श्रद्धालु, नंदबाबा, यशोदा परस्पर बधाइयों का आदान-प्रदान कर रहे थे। जन्मस्थान सेवा संस्थान द्वारा आयोजित इस महोत्सव में हजारों खिलौने, वस्त्र, बर्तन, मिष्ठान आदि लुटाए गए। वृद्ध, बालक, नर, नारी सभी भगवान श्रीकृष्ण की जन्म की खुशी में अभिभूत हो प्रसद को प्राप्त करने को ललायित थे। श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के सचिव कपिल शर्मा ने बताया कि नंदोत्सव के उत्सव में हजारों ब्रजवासी और बाहर से आए श्रद्धालु शामिल हुए हैं। श्रीराम शर्मा निमाई ने बताया कि भजन और बधाई गायन कर भक्तों को परमानंद की अनुभूति कराई है।

ठाकुर श्रीद्वारकाधीश मंदिर में नंद महोत्सव का आयोजन किया गया। सुबह 10 बजे नंदबाबा के रूप में मंदिर के मुखिया ब्रजेश कुमार और अन्य मुखियाओं ने मंदिर परिवार को सखा स्वरूप बनाया। मंदिर के मुखिया ने जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में भक्तों को खेल, खिलौने, बांसुरी, फल आदि का वितरण किया। मंदिर में भगवान के जयघोष से वातावरण गुंजायमान रहा। श्रद्धालुओं में प्रसाद लूटने की होड़ मची रही। मीडिया प्रभारी एड. राकेश तिवारी ने बताया कि शयन के दर्शन 4.30 से पांच बजे तक हुए। मंदिर के अधिकारी श्रीधर चतुर्वेदी, कमला शंकर, सत्यनारायण शर्मा, राधा रमन अरोरा, राजीव चतुर्वेदी, ब्रजेश चतुर्वेदी, बनवारी लाल चतुर्वेदी, अजय भट्ट, सौरभ अग्रवाल, कंहैया लाल, जीतू, बलदेव भंडारी आदि मौजूद रहे। प्राचीन केशवदेव मंदिर मल्लपुरा में भी नंदोत्सव में श्रद्धालु जमकर झूमे। लाला के जन्म की खुशी में उपहार लुटाए गए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप