मथुरा, जासं। जन्माष्टमी पर होटल व्यवसाय की जमकर राधे-राधे होने वाली है। वजह भगवान श्रीकृष्ण का जन्म तो है ही, दूसरा प्रदेश सरकार का भी इस पर फोकस बना हुआ है। लिहाजा, व्यवसाय में बूम आना तय है। देसी-विदेशी पर्यटकों का सैलाब उमड़ने वाला है। होटल के अलावा आश्रम, धर्मशाला, गेस्ट हाउस में टूरिस्ट से भरे रहेंगे। कुछ होटलों में अभी से ऑनलाइन बुकिग शुरू भी हो चुकी है।

24 अगस्त को कान्हा एक बार फिर धरती पर जन्म लेंगे। इसको लेकर पूरी दुनिया उत्साहित रहती है, लेकिन मथुरा में जन्मभूमि होने के चलते यह उत्साह कई गुना बढ़ जाता है। भक्त होटल, आश्रम, गेस्ट हाउस में कुछ दिन पहले से ही आकर ठहरने लग जाते हैं। होटल व्यवसायियों का कहना है कि पर्व पर भक्तों का उत्साह जगजाहिर है। त्योहार से कई दिन पहले ही पर्यटक अपनी जगह बनाने लग जाते हैं। हर बार की तरह इस बार भी उत्साह देखने को मिल रहा है। लोगों ने ऑनलाइन होटल्स रूम की एडवांस बुकिग करानी शुरू कर दी है। सभी तरह से एसी और नॉन एसी रूम बुक हो रहे हैं। दिन बढ़ने के साथ खासकर दूसरे पखवाड़े में कारोबार चरम पर होने वाला है। त्योहार पर सभी कमरे फुल हो जाते हैं।

--

कुछ ये है आंकड़ा:

जिले में बड़ी संख्या में होटल, गेस्ट हाउस और आश्रम हैं। एक कारोबारी के मुताबिक 500 से अधिक होटल और गेस्ट हाउस जबकि 300 से अधिक आश्रम हैं। पर्व पर सब हाउसफुल होंगे।

--

टॉक:

प्रत्येक वर्ष जन्माष्टमी पर उत्साह देखने लायक होता है। इस बार यह और अधिक उत्साहजनक होगा क्योंकि प्रदेश सरकार इसे बड़े स्तर पर मनाने की तैयारी कर रही है। लिहाजा, बड़ी संख्या में पर्यटकों के उमड़ने की उम्मीद है। इसका सीधा फायदा कारोबार को पहुंचेगा।

महेंद्र प्रताप, अध्यक्ष मथुरा वृंदावन होटल एसोसिएशन

--

त्योहार को लेकर कई दिन पूर्व से होटल व्यवसाय में हलचल शुरू हो जाती है। इस समय ऑनलाइन बुकिग होनी शुरू हो गई है। कारण यह सुविधाजनक तो है ही साथ ही अंतिम समय भीड़भाड़ में समस्या नहीं आती है।

आरबी चौधरी, सचिव

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप