जागरण संवाददाता, मथुरा: 24 घंटे से रुक-रुककर हो रही बारिश ने परेशानियां बढ़ा दीं। मांट तहसील क्षेत्र में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। बारिश ने ठंड और बढ़ा दी। गुरुवार अधिकतम तापमान 16 रह गया जबकि न्यूनतम नौ डिग्री सेल्सियस हो गया, लेकिन गलन बढ़ गई। झमाझम बारिश से आलू और सरसों की फसल पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। किसानों के चेहरे पर चिता की लकीरें उभर आई हैं। जिले में 15 एमएम बारिश के कारण जगह-जगह जलभराव के हालात बन गए।

बुधवार शाम करीब पांच बजे से गुरुवार शाम तक रुक-रुककर बारिश होती रही। बुधवार रात तेज बारिश हुई। मांट तहसील क्षेत्र में बारिश के साथ ओले भी गिरे। खेतों में सरसों की फसल फूल और फली पर है। ऐसे में ओलावृष्टि होने के कारण सरसों की डाली टूट गई और फूल झड़ गया। इससे सरसों की पैदावार प्रभावित होगी। खेतों में खड़ी आलू की फसल का तना भी टूट गया है। झमाझम बारिश से अगैती और पिछैती दोनों ही फसल को नुकसान हुआ है। हालांकि बारिश से गेहूं की फसल को फायदा हुआ है। इस वक्त गेहूं को पानी की जरूरत थी, बारिश से फसल को पानी मिल गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस