जागरण संवाददाता, मथुरा: रालोद के राष्ट्रीय महासचिव जयंत चौधरी आज अलग ही अंदाज में नजर आए। आमतौर पर शांत और शालीन भाषण देने वाला रालोद का यह नेता भाजपा की केंद्र और प्रदेश की सरकार पर जमकर बरसा। कहा सरकारें किसान और जवान दोनों को ही गुमराह कर रही हैं। सीमा पर जवान और खेत में किसान दिन-रात मेहनत कर रहा है लेकिन उसकी समस्याएं हल नहीं हो रहीं। कुछ संगठन धर्म और संस्कृति के ठेकेदार बन गए हैं। उन्होंने बिजली की बढ़ी दरों से परेशान किसानों की आवाज उठाते हुए 13 को प्रदेश भर के बिजली घरों के घेराव का हल्ला बोला।

लंबे अंतराल के बाद मथुरा में हुई रालोद की सभा में भीड़ देख राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौधरी जयंत गदगद नजर आए। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी आडे़ हाथ लिया। बजरंग दल और विहिप सहित आरएसएस को भी नहीं बख्शा। उन्होंने बिजली बिलों के खिलाफ चलाए जा रहे पोल खोल-धावा बोल रैली में उमड़ी जनता को साधुवाद दिया कि उनकी उपस्थिति दर्शा रही है कि रालोद सही रास्ते पर जा रहा है।

मथुरा-अलीगढ़ रोड पर बिचपुरी के समीप गांव कूम्हा में जनसभा में जयंत चौधरी ने कहा कि बिजली की दरों को लेकर सभी परेशान हैं। उन्होंने कहा कि चार साल में 4800 हजार करोड़ रुपये मोदी ने प्रचार में खर्च कर दिए। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसा कि गाय माता है, लेकिन यही किसानों के खेतों को खराब कर रही है। उन्होंने अलीगढ़ में गोशाला के लिए धरना दे रहे किसान को जेल में बंद करने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार को आवारा पशुओं के पालन-पोषण की जिम्मेदारी उठानी चाहिए।

चौ. जयंत ने कहा कि फर्जी एनकाउंटर कर सरकार पीठ थपथपा रही है। दो करोड़ लोगों को नौकरी का वादा करने वाली सरकार तारीख पर तारीख दे रही है। बिजली बिलों में भारी बढ़ोत्तरी का जिक्र करते हुए कहा कि यदि किसान उठ खड़ा हुआ तो श्रीकृष्ण की नगरी से पूरे प्रदेश को एक बड़ा राजनीतिक संदेश जाएगा। इसके लिए किसानों को 13 अगस्त को अपने-अपने घर के आसपास के बिजलीघरों का घेराव कर धरना प्रदर्शन करना है। धरना-प्रदर्शन ऐसा होना चाहिए कि सरकार और अफसरों को 440 वोल्ट का झटका लगे।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष पूर्व विधायक अनिल चौधरी ने बिजली चोरी में दर्ज कराई जा रही रिपोर्ट की धारा 138ए को समाप्त किए जाने की मांग की। जिलाध्यक्ष कुं. नरेंद्र ¨सह ने पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने और मथुरा को तीर्थस्थल घोषित किए जाने की मांग उठाई। डॉ. अशोक अग्रवाल ने तंज कसा कि भाजपा कहती है कि विपक्ष पर विकल्प नहीं है। छाता के जगदीश सुपानियां ने बड़ी संख्या में विप्रों के साथ रालोद की सदस्यता ग्रहण की। सभा की अध्यक्षता जंगलिया बाबा ने और संचालन शिवचरन काका ने किया।

By Jagran