मथुरा, जासं। गोवर्धन की गिरि तहलटी का गिरवर कुंज गिरिराजजी की जय जयकार से गूंजता रहा। यमुना, गंगा, गोदावरी, बह्मापुत्र, चिनार, कृष्ण, अलखनंदा के जल, दूध, दही, शहद, जड़ी बूटियों के पंचामृत से श्रीगिरिराज महाराज का पंचरत्नम महाभिषेक हुआ। ग्वाल और सखी रूप बने श्रद्धालुओं ने भक्ति भाव से अभिषेक कर आरती की। दो लाख लोगों तक प्रसाद पहुंचेगा।

छप्पन भोग उत्सव की पूर्व संध्या पर वैदिक मंत्रोच्चरण के मध्य आचार्य कामेश्वरनाथ चतुर्वेदी ने महाभिषेक कराया। छप्पन भोग उत्सव में इस दौरान वातावरण कृष्णमय हो गया। गोपी स्वरूप धारण करतीं महिलाएं, ग्वाल रूप धारण करते समिति परिवार के सदस्य गाजे-बाजे के साथ छप्पन भोग स्थल गिरवर कुंज में अभिषेक करने को आए। इंद्र के मानमर्दन के उपरांत ब्रजवासियों ने जैसे श्रीगिर्राज महाराज को छप्पन भोग लगाया, उसी भाव को साकार करने को श्रीगिरिराज सेवा समिति परिवार ने उत्सव का आयोजन किया। समिति के सदस्यों ने महाभिषेक कर भगवान श्रीगिरिराज महाराज को छप्पन भोग का न्योता दिया है। इससे पूर्व समिति के संस्थापक मुरारी अग्रवाल ने पंचामृत अभिषेक कर कलश पूजा की। अध्यक्ष दीनानाथ अग्रवाल, महामंत्री अशोक कुमार, नीरज गोयल, मुख्य संयोजक राघवेंद्र गर्ग, दिनेश सादाबाद, राजेंद्र, भगवानदास खंडेलवाल, कन्नू, हरीश, मुरारी सरन, संजय जिदल, महावीर अग्रवाल, राकेश गर्ग, हरीश गिलट, विनय अग्रवाल, अंशुल शोरा, संजय चौधरी, तुषार, अंकित बंसल आदि ने गिरिराज महाराज का अभिषेक किया। ब्रज का अलौकिक छप्पन भोग आज

मथुरा: अनंत चतुर्दर्शी 12 सितंबर को श्री गोवर्धन की गिरि तलहटी में छप्पन भोग के लिए गोवर्धन की गिरि परिक्रमा हरियाली की हरि प्रियतमा और रंग बिरंगी रोशनी से नहा उठी है। गिरिराज सप्त रत्नों से सजे चांदी के चंद्रयान-3 में विराज कर दर्शन देंगे। इसरो के वैज्ञानिकों की सफलता को मनौती मांगी जाएगी। शुद्ध गाय के घी से बने 21 हजार किलो प्रसाद से सजने वाले छप्पन भोग में सोने के वर्क के व्यंजन भी शामिल हैं। गिरिराज प्रभु का श्रृंगार राजाधिराज रूप में पंडित शरद मुखिया करेंगे। हीरे, मोती, नीलम, पन्ना, पुखराज, गोमिद जैसे नवरत्नों से श्रृंगार होगा। प्रभु हीरा जड़ित बांसुरी धारण करेंगे। स्थान-स्थान पर शास्त्रीय संगीत की स्वर-लहरियों से गायन होगा। गिरिराज सेवा समिति के संस्थापक मुरारी अग्रवाल ने भक्तों को दुर्लभ दर्शनों के लिए आमंत्रित किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस