गोवर्धन(मथुरा), संसू। ऐतिहासिक विरासत कुसुम सरोवर अब रंग-बिरंगी लाइटों के साथ झिलमिलाता नजर आएगा। वातावरण में गूंजती आवाजें सरोवर का इतिहास बताएंगी तो लीला स्थली की जानकारी भी देंगी। एनजीटी के कोर्ट कमिश्नर ने विप्रा उपाध्यक्ष व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ गोवर्धन का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं पर मंथन किया।

शनिवार को राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के कोर्ट कमिश्नर आनंद वर्धन शुक्ला, ब्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ, विप्रा उपाध्यक्ष नागेंद्र प्रताप सिंह, एसडीएम राहुल यादव ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ गोवर्धन परिक्रमा मार्ग का निरीक्षण कर भंडारा स्थलों व ई रिक्शा संचालन पर मंथन किया। आनंद वर्धन शुक्ला ने ऐसे स्थानों को चिह्नित किया, जहां भंडारा सुगमता से चले और गंदगी का भी निस्तारण हो जाए। ई रिक्शा संचालन के लिए रजिस्ट्रेशन युक्त रिक्शा को व्यवस्थित तरीके से सुचारू करने पर मंथन हुआ। उन्होंने बताया कि ई रिक्शा और भंडारा स्थलों पर न्यायालय को रिपोर्ट सौंपी जाएगी। एसडीएम राहुल यादव में कहा कि ई रिक्शा सुचारू करने के लिए योजना तैयार कर ली गई है।

एनजीटी कमिश्नर ने स्थानीय लोगों के साथ 13 सूत्रीय मांगों पर चर्चा कर कोर्ट के आदेशों के अनुपालन में जल्द से जल्द दूर करने को कहा। विप्रा के एक्सईएन धीरेंद्र बाजपेयी ने बताया कि कुसुम सरोवर पर करीब पांच करोड़ की लागत से लाइट साउंड सिस्टम सहित सुंदरीकरण कराया जाएगा।

वनविभाग के अधिकारी ब्रजेश सिंह परमार, एसपी देहात आदित्य कुमार शुक्ला आदि थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप