जागरण संवाददाता, मथुरा: चुनाव संभावनाओं का मैदान है। इस बार संभावना रालोद और सपा के बीच दोस्ती की भी बन रही है। ऐसे में दोनों पार्टियों में टिकट के दावेदार बेहद सधे अंदाज में अपनी गोटी फिट करने में लगे हैं। गठबंधन पर मुहर लगी, तो कौन सी सीट किसके खाते में जाएगी, इस पर नजर जमी हुई है।

वर्ष 2017 में सपा और कांग्रेस ने गठबंधन से चुनाव लड़ा था। गठबंधन में छाता और बलदेव सीट सपा तो मांट, मथुरा और गोवर्धन कांग्रेस के खाते में थी। इस बार सपा और रालोद के बीच गठबंधन होता है, तो जाट बाहुल्य इस जिले में रालोद अधिक सीटें पाना चाहेगी। ऐसे में सपा के तमाम उम्मीदवारों को झटका लग सकता है। जिला स्तर पर रालोद में पांच सीटों के लिए 26 आवेदन हुए हैं, तो सपा में इतनी ही सीटों के लिए 14 लोगों ने दावेदारी की है। बलदेव में सबसे अधिक आवेदन

रालोद में जिला स्तर पर सबसे ज्यादा आवेदन बलदेव में हुए हैं। यहां पर 14 लोगों ने दावेदारी की है। गोवर्धन में पांच, मांट में दो, छाता में चार, मथुरा वृंदावन में एक ने दावा किया है। सपा में मथुरा-वृंदावन से सात, गोवर्धन से चार, बलदेव से एक, छाता से एक और मांट से एक व्यक्ति ने दावेदारी की है। ये हैं दावेदार

रालोद में मथुरा-वृंदावन से डा. अशोक अग्रवाल, मांट से योगेश नौहवार, देवराज सिंह, छाता से तेजपाल सिंह, जगपाल सिंह चेयरमैन, ठाकुर जितेंद्र सिंह, जगदीश सुपानिया, गोवर्धन से अनूप चौधरी, कुंवर नरेंद्र सिंह, चेतन मलिक, डा. यशपाल सिंह, योगेश द्विवेदी ने टिकट के लिए दावेदारी की है। बलदेव से खुद जिलाध्यक्ष बाबूलाल प्रमुख, रोहित प्रताप, पप्पू प्रधान, बबिता देवी, कमल सिंह दिवाकर, सोहनलाल वाल्मीकि, नारायण सिंह विप्लवी, गुलजारीलाल, दीपचंद्र प्रधान, केएस अटोरिया, श्याम पाल सिंह व सीमा भूकेश समेत 14 लोगों ने आवेदन किया है।

सपा में मथुरा-वृंदावन से अजय भरंगर, अनिल अग्रवाल, तुलसीराम शर्मा, ऋतु सक्सेना, राजेंद्र फेरारी, जगवीर चौधरी व सुजीत प्रधान ने आवेदन किया है। जबकि गोवर्धन से महेश चंद्र उर्फ गोल्डी भैया, किशोर सिंह, प्रदीप चौधरी, रौतान सिंह प्रधान ने आवेदन किया है। छाता से खुद जिलाध्यक्ष लोकमणि जादौन, मांट से एमएलसी संजय लाठर और बलदेव से रणवीर सिंह धनगर ने आवेदन किया है। क्या कहते हैं जिलाध्यक्ष

गठबंधन का फैसला पार्टी नेतृत्व को करना है। आदेश के मुताबिक काम किया जाएगा। छाता, गोवर्धन और मांट में सपा अपनी दावेदारी मजबूती से करेगी।

लोकमणि जादौन, जिलाध्यक्ष सपा। गठबंधन पर फैसला पार्टी नेतृत्व का है। राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी जो भी फैसला करेंगे, पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता उसी फैसले के अनुरूप पार्टी की मजबूती को काम करेगा।

बाबूलाल, जिलाध्यक्ष रालोद।

Edited By: Jagran