मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मथुरा: जिले में प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों के संविलियन में की गई मनमानी के विरोध में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने शुक्रवार को बीएसए को संबोधित ज्ञापन सौंपा। महासंघ के जिलाध्यक्ष मुकेश शर्मा की अगुवाई में दिए गए ज्ञापन कहा गया है कि विद्यालयों के संविलियन के आदेश मे उच्च न्यायालय की अवमानना की जा रही है।

इस मामले में राज्य सरकार की ओर से 15 अप्रैल को उच्च न्यायालय में अपना पक्ष रखा जाएगा। साथ ही एक अन्य याचिका में पूरे प्रदेश में शिक्षकों की वरिष्ठता के निर्धारण पर रोक लगा रखी हैं, इसलिए विभाग द्वारा वरिष्ठता का निर्धारण नहीं किया जा सकता है। दूसरी बात यह है कि आदर्श आचार संहिता के बीच कोई नवीन नियुक्ति नहीं की जा सकती है। ज्ञापन में मांग की गई है कि न्यायालय का निर्णय आने तक संविलियन की कार्यवाही स्थगित रखा जाए। ज्ञापन देने वाले में प्रतिनिधि मंडल में जिलाध्यक्ष मुकेश शर्मा, जिला महामंत्री अंजना शर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष हेमराज सिंह, अंजली सिंह, हरीओम गुप्ता, इंद्रपाल सिंह, वीरेंद्र कुमार, अशोक शर्मा आदि शिक्षक मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप