मथुरा, जासं। विश्राम बाजार में भाजपा और कांग्रेस के जुलूस के आमने-सामने आ जाने के मामले को पुलिस-प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने होली गेट चौकी इंचार्ज भोगीराज अवस्थी को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है। मामले की जानकारी चुनाव आयोग को भेजते हुए उनसे नए चौकी इंचार्ज की तैनाती के लिए अनुमति मांगी गई है।

मंगलवार को चुनाव प्रचार के अंतिम दिन भाजपा और कांग्रेस का शहर में जुलूस निकल रहा था। भाजपा प्रत्याशी हेमा मालिनी, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा एवं महापौर डॉ. मुकेश आर्य बंधु समेत तमाम नेता और कार्यकर्ता मंडी रामदास, चौक बाजार होते हुए होली गेट की ओर आ रहे थे, तभी भरतपुर गेट की ओर से चला जुलूस होली गेट चौराहा होते हुए होली गेट अंदर प्रवेश कर गया। इस मामले ने विश्राम बाजार में जाकर तूल पकड़ लिया। दोनों ओर से कार्यकर्ता जोशीले नारे लगा रहे थे, इससे हालात इस कदर खराब हो गए कि पुलिस को व्यवस्था संभालने में एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ा। कोतवाली, सदर और थाना गोविद नगर सहित अन्य क्षेत्रों का फोर्स बुला लिया गया। हालांकि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने प्रथम ²ष्टया मामला ट्रेफिक प्लान की अव्यवस्था बता साध तो लिया पर विभागीय ²ष्टि से इसे बड़ी गलती माना, कारण यदि दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता भरे बाजार में भिड़ जाते तो स्थिति विस्फोटक होती और सैकड़ों कार्यकर्ता चुटैल और घायल हो सकते थे। पुलिस ने मामले की जांच कराई तो प्रथम ²ष्टया होली गेट पुलिस चौकी इंचार्ज भोगीराज अवस्थी की गलती सामने आई कि उन्होंने भाजपा के जुलूस के होली गेट से बाहर निकलने से पहले ही कांग्रेस के जुलूस को होली गेट में प्रवेश करा दिया, इससे स्थिति बिगड़ी। -भाजपा और कांग्रेस के जुलूस के आमने-सामने आ जाने के मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने होली गेट चौकी इंचार्ज भोगीराज अवस्थी को सस्पेंड कर दिया है।

कृष्ण कुमार तिवारी, कोतवाली प्रभारी

Posted By: Jagran