संवाद सहयोगी, वृंदावन: राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द सोमवार को ठा. बांकेबिहारी के दर्शन करेंगे। वे सोमवार सुबह 10.15 बजे मंदिर पहुंचेंगे। आधा घंटे आराध्य के दर्शन व पूजा-अर्चना करेंगे। इस दौरान आम श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं मिल सकेगा। राष्ट्रपति 10.45 बजे बाद मंदिर से जाएंगे। इसके बाद ही आम श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश मिलेगा। दोपहर 12 बजे तक ही मंदिर के पट खुलेंगे।

वैसे आम दिनों में सुबह आठ बजे मंदिर के पट आम श्रद्धालुओं के लिए खुल जाते हैं। मगर, राष्ट्रपति के आगमन को देखते हुए सोमवार सुबह आम श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं मिलेगा। मंदिर परिसर में राष्ट्रपति के लिए रेड कारपेट भी बिछाया जाएगा। मंदिर में चयनित सेवायत और सेवाधिकारी ही मौजूद रहेंगे। यही राष्ट्रपति के दर्शन करने के समय मौजूद रहेंगे। मंदिर प्रबंधकों को ही मंदिर परिसर में रहने की अनुमति होगी। मंदिर के दूसरे ऐसे सेवायत जिनका नाम राष्ट्रपति की मौजूदगी के समय की सूची में नहीं होगा, उन्हें भी प्रवेश नहीं मिलेगा।

छावनी में तब्दील होगा मंदिर के आसपास का क्षेत्र

राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए ठा. बांकेबिहारी मंदिर समेत आसपास का क्षेत्र पूरी तरह छावनी में तब्दील हो जाएगा। वीआइपी रूट पर घरों की खिड़कियों को बंद रखने की हिदायत दी गई है। छतों पर सुरक्षाबल के जवान मौजूद रहेंगे। कुछ पुलिसकर्मी और होमगार्ड को भी गलियों में तैनाती दी जाएगी। ताकि भीड़ एकत्रित न हो सके। लंगूर करेंगे बंदरों से सुरक्षा

राष्ट्रपति के दौरे के समय ठा. बांकेबिहारी मंदिर के आसपास चार लंगूर तैनात किए जाएंगे। ताकि बंदर लंगूर को देखकर इलाके से दूरी बनाए रखें। राष्ट्रपति तक आतंकी बंदरों की पहुंच न हो, इसके लिए पुलिसकर्मी भी गुलेल लेकर छतों और रास्ते में तैनात किए जाएंगे।

Edited By: Jagran