मथुरा: नगर निगम कार्यकारिणी की बुधवार को हुई बैठक में दौ सौ करोड़ से अधिक का बजट हंगामे के बीच पास हो गया। इसके साथ ही शहर से तबेला बाहर किए जाने का प्रस्ताव को भी ध्वनिमत से पारित कर दिया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए नगर निगम डूडा को गांव महोली में जमीन उपलब्ध कराएगा।

महापौर डॉ. मुकेश आर्यबंधु की अध्यक्षता में हुई कार्यकारिणी की दोपहर दो बजे शुरू हुई कार्यकारिणी मीटिग शाम साढ़े आठ बजे तक चली । मीटिग में दो सौ करोड़ बीस लाख रुपये के बजट को पारित किए जाने को लेकर विपक्षी पार्षद लीलाधर, तिलकवीर और रवि यादव ने विरोध किया। भाजपा के पार्षद भी उनके समर्थन में खड़े नजर आए। काफी देर तक चले हंगामे के बाद विपक्षी पार्षद सदन से बाहर चले आए। बाद में सभी को अंदर बुलाया गया। अंत में कार्यकारिणी ने बजट को पास कर दिया। महापौर डॉ. आर्यबंधु ने बताया कि डीग गेट और वृंदावन के संयुक्त अस्पताल के सामने नजूल की भूमि पड़ी हुई है। इस जमीन पर दुकानें बनाए जाने का प्रस्ताव पास कर दिया गया है। शहर में गंदगी फैला रही जानवर (भैंस) को बाहर किए जाने का प्रस्ताव भी पारित हो गया। नजूल की भूमि को चिन्हित करके उसकी निगरानी के राजस्व विभाग के चार रिटायर्ड कर्मियों की नियुक्ति का प्रस्ताव पर सभी ने अपनी मुहर लगा दी है। महोली गांव में नगर निगम प्रधानमंत्री आवास के लिए जमीन मुहैया कराएगा। मीटिग में नगर आयुक्त रविद्र कुमार मांदड़, उपसभापति मूलचंद गर्ग, राजेश पिटू, अनीता गूजर, विनोद भारद्वाज समेत सभी कार्यकारिणी सदस्य मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप