बरसाना(मथुरा), संसू। कृष्ण प्रिया बृषभानु दुलारी के जन्मोत्सव को लेकर बरसाना में तैयारी शुरू हो गई है। 10 दिन तक चलने वाले राधाष्टमी महोत्सव की तैयारी को लेकर पुलिस प्रशासन ने भी कमर कस ली है।

कान्हा के जन्मोत्सव के बाद अब पूरा ब्रज मंडल उनकी आल्हादिनी शक्ति राधारानी का जन्मोत्सव मनाने को उत्सुक है। बृषभानु नंदनी का जन्मोत्सव भाद्र पक्ष के शुक्ल अष्टमी के भोर में मनाया जाएगा। राधा जन्मोत्सव बरसाना में पांच व छह सितंबर को मनेगा। राधा जन्मोत्सव पर 10 दिन तक उनकी प्राचीन लीलाओं का भी दौर चलेगा। मंदिर सेवायत रासबिहारी गोस्वामी ने बताया कि राधारानी का जन्म छह सितंबर की सुबह लाडिलीजी महल में होगा। इस दौरान पंचामृत से उनके श्रीविग्रह का अभिषेक कराया जाएगा। यह होंगे कार्यक्रम:

चार सितंबर- ऊंचागांव में राधारानी की प्रधान सखी ललिताजी का जन्मोत्सव।

पांच सितंबर- सुबह से ही श्रद्धालुओं का बरसाना में आगमन एवं शाम को राधारानी मंदिर में बधाई गायन एवं नंदगांव वालों को लड्डू वितरण। वहीं पूरी रात बरसाना में भजन संध्या व उत्सव।

छह सितंबर- सुबह चार बजे राधारानी मंदिर में बृषभानु नंदनी का अभिषेक तथा नंदगांव के गोस्वामियों की ओर से लाडिली के लिए बधाई गायन व शाम को सफेद छतरी में बृषभानु दुलारी के दर्शन होंगे।

सात सितंबर- बूढ़ी लीला महोत्सव के चलते प्राचीन मोरकुटी स्थल पर राधाकृष्ण के स्वरूपों द्वारा मयूर लीला का मंचन।

आठ सितंबर- विलासगढ़ पहाड़ी पर राधाकृष्ण के स्वरूपों द्वारा मयूर, दान व जोगिन लीला का मंचन।

नौ सितंबर- सांकरी खोर में चोटी बाधन लीला व शाम को गाजीपुर में नौका विहार लीला का मंचन।

10 सितंबर- ऊंचागांव में स्थित दाऊजी मंदिर में श्याम सगाई व सखिगिरी पर्वत पर ब्यावला लीला एवं शाम को प्रिया कुंड में नौका विहार लीला का आयोजन।

11 सितंबर- सांकरी खोर में प्राचीन मटकी फोड़ लीला का मंचन एवं शाम को दंगल का आयोजन।

12 सितंबर- राजस्थान के कदम खंडी स्थल में चीरहरण लीला एवं दंगल का आयोजन।

13 सितंबर- राधा बाग व मडोई में महारास लीला का आयोजन। इस दौरान मडोई के महारास लीला में राधाकृष्ण के स्वरूप सवा किलो प्राचीन सोने का मुकुट धारण करेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप