वृंदावन, जासं। भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव पर ठाकुर बांके बिहारी मंदिर में शनिवार को हुई मंगला आरती के दर्शन के समय भीड़ बेकाबू रही। यह आरती वर्ष में सिर्फ एक बार आज ही के दिन होती है। श्रद्धालु रात दस बजे से मंदिर के प्रांगण में खड़े रहकर इंतजार करते रहे। मंदिर के पट खुलते ही प्राइवेट सुरक्षा गार्डों ने श्रद्धालुओं को धक्के मार-मार कर बाहर निकालना शुरू कर दिया। इससे श्रद्धालुओं की भावनाएं आहत हुई। धक्का-मुक्की के कारण कई महिलाएं गश खाकर गिर गई। पुलिसकर्मियों उनको भीड़ से बाहर निकाला। तब कहीं उनको राहत मिली। इससे पहले शुक्रवार रात में ही मंदिर में भक्तों की भीड़ जमा हो गई। रात शयनभोग आरती के बाद मंदिर के प्रवेश द्वार को बंद कर दिया गया। सैकड़ों श्रद्धालु मंदिर परिसर में अंदर ही जमे रहे। उनकी इंतजार की घड़ी 1.45 बजे खत्म हुई। आराध्य के दर्शन खुले और ठाकुरजी को को टकटकी लगाकर निहारने लगे। सुरक्षा गार्डों ने उन्हें खींचकर मंदिर से बाहर निकालना शुरू कर दिया। -आरती के बाद खोले प्रवेश द्वार:

रातभर मंदिर के बाहर खड़े रहकर इंतजार कर रहे हजारों भक्तों को मंगला आरती के दर्शन नहीं हो सके। गेट संख्या तीन को आरती के बाद खोला गया तो भीड़ मंदिर में टूट पड़ी। -कई महिलाएं हुई बेहोश:

मंगला आरती के दौरान श्रद्धालुओं की भीड़ के दवाब और उमस भरी गर्मी के कारण महिलाएं मंदिर में ही गश खाकर गिर पड़ी। जिन्हें मंदिर में मौजूद पुलिसकर्मियों ने भीड़ से बमुश्किल बाहर निकाला।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस