वृंदावन, जासं। करीब डेढ़ सौ साल पुराने ठाकुर बांके बिहारी मंदिर की दीवार और छत जर्जर हो गई है। इनकी मरम्मत का कार्य मंदिर प्रबंधन ने राजकीय निर्माण निगम को दिया है। बुधवार को राजकीय निगम की टीम ने पुनरुद्धार कार्य के लिए मंदिर का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के बाद राजकीय निर्माण निगम रुड़की के कंसल्टेंट अमित गुप्ता ने बताया कि मंदिर के कुछ हिस्से की नई बिल्डिग तैयार होनी है। उनकी टीम को इसकी डिजाइन तैयार करनी है। इसीलिए मंदिर का निरीक्षण करने को आई है। मंदिर निर्माण से लेकर डिजाइन तैयार करने तक में आइआइटी एक्सपर्ट का भी मदद ली जाएगी। मंदिर का कुछ हिस्सा ही नए तरीके से निर्माण करवाया जा रहा है। पूरे मंदिर का निरीक्षण इसलिए किया गया कि जो पुराना भवन काम आ सकता है, उसे दुरस्त करके मजबूती दी जाएगी। मंदिर की गिर रहीं टाइलों को लेकर उनका कहना था कि उन्हें मजबूती देने का काम शुरू हो चुका है। मंदिर प्रबंधक मुनीष शर्मा और उमेश सारस्वत ने टीम को पूरे मंदिर का निरीक्षण करवाया। प्रोजेक्ट मैनेजर अनुराग सिंह, अधिशासी अभियंता रविद्र कुमार, दीपक, अवर अभियंता विनोद कुमार टीम में शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस