जागरण संवाददाता, मथुरा: जिला अस्पताल में तमाम ऐसे मरीज एक्सरे कराने पहुंच रहे हैं, जो कई-कई दिनों से बीमार चल रहे हैं। ऐसे में एक्सरे कर रहे कर्मचारियों को कोरोना वायरस को लेकर दहशत बनी हुई है। कर्मचारी चाहते हैं कि उन्हीं मरीजों का एक्सरे कराया जाए, जिन मरीजों की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव हो। इसको लेकर कर्मचारी उच्चाधिकारियों से भी मांग कर रहे हैं।

जिला अस्पताल में रोज 50 से 60 मरीज एक्सरे कराने के लिए पहुंच रहे हैं। इनमें हर उम्र के मरीज शामिल हैं। एक्सरे करने वाले कर्मचारियों का कहना है कि दूसरे जिलों में एक्सरे व सीटी स्कैन कराने वाले मरीजों के लिए कोरोना की जांच को अनिवार्य कर दिया है। इसके अलावा निजी सेंटरों पर भी रेडियोलॉजी की जांच से पूर्व कोरोना टेस्ट आवश्यक है। वहीं कर्मचारियों ने बताया कि जिला अस्पताल में कोविड-19 की जांच हो रही है, बावजूद इसके मरीज से पहले जांच कराने के लिए कहते हैं तो वह झगड़ने को तैयार हो जाता है। जबकि तमाम मरीजों का गला खराब होता है, बुखार तक आ रहा होता है। अगर उनको गेट के बाहर खड़ा होने के लिए कहते हैं तो वह नोकझोंक को उतारू हो जाते हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस