सुरीर (मथुरा): डायरिया प्रभावित गांवों के नमूनों की जांच में पानी दूषित पाए जाने पर प्रशासन ने बीमारी से बचाने के लिए ग्रामीणों को शुद्ध पानी की व्यवस्था शुरू कर दी है। प्रभावित गांवों में नए हैंडपंप लगवाने का कार्य शुरू हो गया है। वहीं शुद्ध पानी की व्यवस्था होने तक प्रशासन पीने के लिए टैंकरों से पानी भिजवा रहा है।

शुक्रवार को मथुरा नगर निगम, राया एवं बाजना नगर पंचायत के सात टैंकर पानी लेकर प्रभावित गांवों में पहुंचे। राजस्व निरीक्षक सुरीर रामकुमार शर्मा ने बताया कि दूषित पानी की समस्या के निराकरण के लिए प्रभावित गांव औहावा, भदनवारा, कुड़वारा, सामोली आदि गांवों में तीन-तीन हैंडपंप लगवाए जा रहे हैं। पीने की पानी की स्थाई व्यवस्था होने तक प्रभावित गांवों में मथुरा से टैंकरों में शुद्ध पानी भेजा जा रहा है। शुक्रवार को सुरीर, औहावा, भिदौनी, भगत नगरिया, सिकंदरपुर, सामोली आदि गांवों में ग्रामीणों के लिए पीने को टैंकरों से पानी की आपूर्ति कराई गई।

Posted By: Jagran