मथुरा, सुरीर: भदनवारा गांव में मासूम की मौत हो गई। जहर देकर मारने का इल्जाम चाची के सिर पर लगाया गया है। बड़े भाई ने अपने छोटे भाई की पत्नी के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी है। पता चला है कि परिवार में जमीन के हिस्सा-बांट को लेकर झगड़ा चल रहा रहा है।

गांव भदनवारा निवासी दीपक का तीन माह का पुत्र आकाश रविवार सुबह कमरे में सो रहा था। मां गीता उसे जगाने गई, तो शिशु के मुंह से झाग निकल रहा था। दीपक अपने पिता मोहन ¨सह के साथ शिशु को लेकर अस्पताल आए, जहां मासूम को मृत घोषित कर दिया। दीपक ने छोटे भाई प्रमोद की पत्नी पूनम पर जहर देकर पुत्र की हत्या का इल्जाम लगाया है। दीपक की तहरीर पर पुलिस ने पूनम के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इंस्पेक्टर सुरीर ने बताया कि तहरीर में पूनम पर जहर दिए जाने का शक जाहिर किया गया है।

पिता-पुत्र के बीच यह है विवाद

मोहन ¨सह के तीन पुत्र हैं। बड़ा बेटा दीपक, उससे छोटा पवन और सबसे छोटा प्रमोद हैं। पिता पर करीब चालीस बीघा जमीन, ट्रैक्टर और ट्रक हैं। दीपक और पवन पिता के साथ ही रहते हैं, जबकि प्रमोद अलग रहता है। आरोप है कि मोहन ¨सह, प्रमोद को जमीन-जायदाद में हिस्सा नहीं देना चाहते। कुछ दिन पहले पवन और दीपक के साथ मिलकर मोहन ¨सह ने उसे घर से निकाल दिया। ग्रामीणों के कहने पर उसे मकान के बाहरी हिस्से में बना कमरा दे दिया। करीब दो महीने पहले प्रमोद ने अपने पिता मोहन ¨सह और भाई पवन के खिलाफ अपनी पत्नी से मारपीट किए जाने की रिपोर्ट कराई थी। इस मामले में पुलिस ने मोहन ¨सह को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। पवन इस मामले में वांछित चल रहा है। पवन और प्रमोद की पत्नियां सगी बहन हैं, पर पवन की पत्नी मायके में रह रही है।

मां बोली, नहीं दे सकती जहर

आकाश की मां ने बताया कि उसके बेटे को देवरानी पूनम जहर नहीं दे सकती है। उसने पूनम को कमरे की तरफ आते नहीं देखा, जबकि वह आंगन में ही काम कर रही थी। वहीं, पूनम का कहना है कि उसे आकाश की मौत के मामले में झूठा फंसाया जा रहा है। सुबह से ही वह अपनी दोनों बेटियों के साथ कमरे में थी।

प्रारंभिक जांच में पिता

पुत्र के विवाद को लेकर महिला को फंसाए जाने की साजिश लग रही है। जिस महिला पर जहर देने का आरोप लगाया है, उसके पति का अपने पिता और भाइयों से बंटवारे का विवाद चल रहा है।

जीपी ¨सह, इंस्पेक्टर, सुरीर

Posted By: Jagran