जागरण संवाददाता, मथुरा, वृंदावन : कृपालु महाराज को जगद्गुरु की उपाधि मिलने के साठ साल पूरे होने पर प्रेममंदिर में जगद्गुरुत्तम दिवस का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें शनिवार को रंगारंग आयोजनों के बीच देश विदेश से आए श्रद्धालुओं ने जमकर आनंद उठाया।

जगद्गुरु कृपालु महाराज द्वारा विश्व में शांति एवं प्रेम का संदेश देने को स्थापित किए गए प्रेममंदिर में शनिवार की सुबह कृपालु महाराज के हजारों अनुयायी मौजूद रहे। जगद्गुरु कृपालु परिषत की अध्यक्षा डॉ. विशाखा त्रिपाठी, कृष्णा एवं श्यामा त्रिपाठी की अगुवाई में आयोजित हो रहे महोत्सव में सुबह हजारों श्रद्धालुओं ने गुब्बारे उड़ाकर अपने गुरु के प्रति श्रद्धा का परिचय दिया। इसके बाद उड़ीसा और महाराष्ट्र से आए कलाकारों ने लोकनृत्यों की प्रस्तुति की तो श्रद्धालु दंग रह गए। फूलों और रंगीन पर्दों से सजे प्रेममंदिर का आकर्षण शनिवार को देखते ही बन रहा था। कृपालु महाराज की पुत्री डॉ. विशाखा त्रिपाठी, श्यामा त्रिपाठी और कृष्णा त्रिपाठी ने महाराजश्री की मूर्तियों और उनपर आधारित डाक्यूमेंटरी फिल्मों का अनावरण किया।

सायंकाल रंगारंग आयोजनों में भगवान श्रीराधा-कृष्ण की लीलाओं का भावपूर्ण मंचन कलाकारों ने किया। इस मौके पर मंदिर में स्थित फव्वरों पर लेजर किरणों की मदद से जगद्गुरु कृपालु के प्रवचन हुए और भगवान की रासलीला का मंचन भी हुआ। इसे देखने के लिए देर शाम तक हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ मौजूद रही।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप