जासं, मैनपुरी : तीन दिन पहले थाना एलाऊ के गांव ओंग निवासी विवाहिता प्रियंका गुप्ता की हत्या उसके पति दीपू गुप्ता ने गला घोंटकर की थी। घटना को अवैध संबंधों के शक में अंजाम दिया गया था। पुलिस ने घटना का राजफाश कर आरोपित पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

सीओ सीटी अभय नारायण राय ने बताया कि ओंग निवासी दीपू गुप्ता का विवाह ढ़ाई साल पहले प्रियंका गुप्ता निवासी गांव निगोह थाना छिबरामऊ, कन्नौज के साथ हुआ था। विवाह के बाद पति-पत्नी के बीच विवाद होता रहता था। गुरुवार सुबह एलाऊ क्षेत्र में गांव सलेमपुर के पास रास्ते के किनारे चादर में बंधा पड़ा मिला था। शव की पहचान प्रियंका गुप्ता के रूप में हुई थी। पुलिस प्रियंका गुप्ता के घर पहुंची तो घर में ताला लगा था। पति दीपू गुप्ता गायब था। जांच में पता चला कि बुधवार देर रात तक पति-पत्नी के बीच झगड़ा होता रहा था।

शुक्रवार को थाने पहुंची प्रियंका गुप्ता की मां शांति देवी ने दीपू गुप्ता के खिलाफ हत्या कर शव को गायब करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एफआइआर दर्ज होने के बाद पुलिस ने दीपू गुप्ता की तलाश शुरू की। शनिवार सुबह उसे एलाऊ क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया। कड़ाई से पूछताछ हुई तो आरोपित ने स्वीकार किया कि उसने अवैध संबंधों के शक में पत्नी की हत्या की है। पुलिस ने उसे जेल भेज दिया है। - गांव के युवक के साथ अवैध संबंध का था संदेह

पकड़े गए दीपू गुप्ता ने पुलिस को बताया कि उसकी पत्नी अक्सर गांव के युवक के साथ बातचीत करती थी। यह बात उसे पसंद नहीं थी। उसके काफी समझाने के बाद भी पत्नी उसकी बात मानने के लिए तैयार नहीं थी। इसलिए उसे पत्नी और युवक के बीच अवैध संबंधों का शक हो गया। उसे संदेह था कि प्रियंका युवक के साथ भाग गई तो बदनामी हो जाएगी। इसीलिए हत्या कर दी। - जिसने खुदकुशी से रोका, उसी की ले ली जान

पकड़े गए दीपू गुप्ता ने बताया कि वह अपने शक को लेकर काफी परेशान था। घटना वाली रात पत्नी से काफी देर तक झगड़ा हुआ। परेशान होकर उसने खुदकुशी की कोशिश की तो पत्नी ने रोक लिया। पत्नी के समझाने पर वह मान गया। लेकिन इसी बीच फिर पत्नी से कहासुनी के बाद विवाद होने लगा। तब तक रात के तीन बज चुके थे। गुस्से में उसने पत्नी के गले में साड़ी का फंदा कसकर गला घोंट दिया।

- ठिकाने लगाने ले जाते समय बाइक से गिरा शव

दीपू ने बताया कि शव को अकेले ठिकाने लगाना संभव नहीं था। इसलिए उसने हाथ-पैर बांधने के बाद शव को चादर में पोटली की तरह बांध लिया। शव को बाइक पर रस्सी से कसने के बाद ठिकाने लगाने ले जा रह था। तभी रास्ता खराब होने के कारण शव बाइक से गिर गया। पास ही आबादी है। जहां से स्वान भोंकते हुए आ गए तो वह शव को छोड़कर फरार हो गया।

Edited By: Jagran