जासं, मैनपुरी : दबंगों ने एक युवक पर मोबाइल चोरी का आरोप लगाकर उसे पेड़ से बांध दिया और फिर बेरहमी से पिटाई की। घटना का वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस सतर्क हो गई। पीड़ित युवक से जानकारी लेने के बाद पुलिस ने आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है।

घटना शहर के मुहल्ला नगला रते की है। यहां के निवासी मोहन को मुहल्ले के कुछ दबंग युवकों ने बुधवार को पकड़ लिया और मोबाइल चोरी का आरोप लगाकर पूछताछ करने लगे। एक माह पहले भी युवक पर मोबाइल चोरी का आरोप लग चुका है। पूछताछ के दौरान युवक ने कोई जानकारी नहीं दी तो दबंगों ने उसके साथ गालीगलौज के बाद पिटाई शुरू कर दी। युवक खुद को निर्दोष बताकर छोड़ने की गुहार लगाता रहा, लेकिन दबंगों का दिल नहीं पसीजा। इसके बाद उसे उसे पेड़ से बांधकर पीटा गया। काफी देर तक पिटने के बाद भी युवक कोई जानकारी नहीं दे सका तो उसे मुक्त कर दिया गया। पुलिस को घटना की भनक भी नहीं लगी।

गुरुवार को घटना का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ तो पुलिस सक्रिय हो गई। वीडियो में पिटते दिखाई दे रहे युवक के बारे में जानकारी जुटाकर पुलिस की एक टीम उसके पास पहुंची और उससे घटना की जानकारी ली। पुलिस ने आरोपितों को तलाश किया, लेकिन वे पकड़ में नहीं आ सके। शहर कोतवाल भानुप्रताप सिंह ने बताया कि पीड़ित युवक से तहरीर देने को कहा गया है। तहरीर मिलते ही मामला दर्ज कर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मोबाइल छीनने वाले गिरोह का राजफाश, दो गिरफ्तार

जासं, मैनपुरी : पुलिस ने मोबाइल छीनने वाले गिरोह का राजफाश किया है। दो लुटेरों को छीने गए दो मोबाइल फोन सहित गिरफ्तार किया है। पकड़े गए बदमाश फीरोजाबाद के रहने वाले है।

सीओ सिटी अभय नारायण राय ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से शहर में मोबाइल झपटने की घटनाएं हो रही थी। बात करते हुए सड़क पर जाने वालों के मोबाइल फोन छीने जा रहे थे। शहर कोतवाली क्षेत्र में पुलिस लाइन के पास मोबाइल छीनने के दो घटनाओं की रिपोर्ट दर्ज की गई थी। एसपी अविनाश पांडेय के मोबाइल लुटेरे गिरोह का भंडाफोड़ करने का निर्देश दिया था। कोतवाली पुलिस इसे लेकर सतर्क हो गई थी। बुधवार रात शहर कोतवाल भानुप्रताप सिंह ने मोबाइल लुटेरे गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से लूट के दो मोबाइल फोन बरामद हुए है। दोनों ने अपना नाम रजत निवासी गांव महराबाद थाना शिकोहाबाद फीरोजाबाद और सचिन निवासी गांव भारौल थाना सिरसागंज फीरोजाबाद बताया। युवकों ने स्वीकार किया कि तीन दिन पहले शहर में मोबाइल छीन कर भागते समय उनकी बाइक रेलवे क्रासिग के बैरियर से टकरा गई थी जिससे वे घायल हो गए थे। पकड़े जाने के डर से बाइक छोड़कर फरार हो गए थे। बुधवार हो बाइक उठाने आए तभी पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। दोनों बदमाशों ने बताया कि वे छिनैती की कई घटनाओं को अंजाम दे चुके है।

Edited By: Jagran