जासं, मैनपुरी: कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए वैक्सीनेशन के प्रति लोगों का रुझान समझ नहीं आ रहा है। चौबीस घंटे में ही वैक्सीनेशन की रफ्तार अचानक घट गई। गुरुवार को सिर्फ 22 केंद्रों पर 2886 लोगों ने वैक्सीन लगवाई है। अचानक इतनी बड़ी गिरावट के बारे में स्वास्थ्य अधिकारी भी कुछ नहीं कह पा रहे हैं।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीनेशन ही एकमात्र उपाय है। जिले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसके लिए केंद्रों का आयोजन कराया जा रहा है। केंद्रों पर लोगों को वैक्सीन की सुविधा दी जा रही है। बावजूद इसके संख्या में इजाफा नहीं हो रहा है। बुधवार को जहां रिकार्ड वैक्सीनेशन हुआ था, वहीं चौबीस घंटे के अंदर ही यह संख्या बेहद कम हो गई। सिर्फ 22 केंद्रों पर ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा सुविधा उपलब्ध कराई। इन केंद्रों पर सुबह से लेकर शाम पांच बजे तक मात्र 2886 लोगों ने अपना पंजीकरण कराने के साथ कोरोना की वैक्सीन लगवाई है। बुधवार को 58 सेंटरों पर 9682 लोग केंद्रों पर पहुंचे थे, जो अब तक का जिले में सर्वाधिक वैक्सीनेशन का रिकार्ड है।

सीएमओ डा. पीपी सिंह का कहना है कि वैक्सीन की उपलब्धता के अनुसार लाभार्थियों को सुविधा दी जा रही है। लोगों से अपील की जा रही है कि वे केंद्रों पर पहुंचकर मुफ्त वैक्सीनेशन सुविधा का लाभ उठाएं। बावजूद इसके अभी भी बहुत से लोगों के मन में भ्रांतियां हैं। इन्हें दूर करने के प्रयास किए जा रहे हैं। दूसरी ओर अधिकांश जागरूक लोग केंद्रों पर पहुंचकर सुविधा का लाभ ले रहे हैं। वैक्सीन को लेकर अभी तक किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं आई है। सभी पूरी तरह से स्वस्थ हैं।