जासं, मैनपुरी: गुरुवार को जिले में नामांकन दाखिल होने की शुरुआत हो गई। मैनपुरी सीट पर भाजपा प्रत्याशी पूर्व मंत्री जयवीर सिंह ने पर्चा दाखिल किया। जबकि भोगांव सीट पर भाजपा प्रत्याशी कैबिनेट मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री ने नामांकन किया। एक निर्दलीय प्रत्याशी द्वारा भी भोगांव सीट पर पर्चा भरा गया।

कलक्ट्रेट पर सबसे पहले नामांकन करने के लिए कैबिनेट मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री दोपहर 12.30 बजे आए। पानी की टंकी वाले गेट से वह एक वाहन से प्रस्तावक के साथ अंदर गए, जहां बैरियर पर गाड़ी को खड़ा करवाया गया। इसके बाद वह पैदल आरओ कक्ष तक गए। यहां भोगांव विधानसभा के लिए बनाए गए कक्ष में पहुंचे और एक सेट में नामांकन आरओ राजनरायन त्रिपाठी को सौंपा, इस दौरान उनके साथ प्रस्ताव कलक्टर सिंह राजपूत साथ रहे। करीब आधा घंटा कक्ष में नामांकन की प्रक्रिया को पूरी करने के बाद वह बाहर लौटै। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से जिले की चारों सीटें जीतने का दावा करते हुए कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार पूर्ण बहुमत से बनेगी।

उनके बाद मैनपुरी सदर से भाजपा प्रत्याशी पूर्व मंत्री जयवीर सिंह शहर के चांदेश्वर मंदिर पर पूजा करने के बाद कलक्ट्रेट पहुंचे। वह उनके काफिले में दो गाड़ियां थीं। जयवीर सिंह की गाड़ी को भी बैरियर पर रोका गया, जहां से वह दो प्रस्तावकों के साथ आरओ कक्ष तक गए, जहां उन्होंने दो सेट में नामांकन पत्र आरओ नवोदिता शर्मा को सौंपे। इस दौरान प्रस्तावक आलोक गुप्ता और अहिरवन सिंह राजपूत साथ रहे। वहीं नामांकन के लिए जिलाध्यक्ष प्रदीप चौहान, पूर्व विधायक अशोक सिंह चौहान, प्रेम सिंह शाक्य, अश्वनी पांडे, बलबीर धनगर, ओमप्रकाश दिवाकर, पंकज भदौरिया भी साथ आए थे।

वहीं निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर श्रेय तिवारी ने भोगांव विधानसभा से पर्चा दाखिल किया। दो घंटे बाद लौटे जयवीर

नामांकन जमा करने के लिए दोपहर एक बजे आरओ कक्ष में गए जयवीर सिंह दो घंटे बाद लौटे। वजह पूछने पर बताया कि आरओ को कागजात आदि देखने में इतना वक्त लगा। चारों सीटें जीतेगी भाजपा, करहल में उतरेगा मजबूत प्रत्याशी

नामांकन जमा करने के बाद वापस आए जयवीर सिंह ने मैनपुरी सहित जिले की चारों सीटों पर जीत का दावा किया। करहल सीट से भाजपा प्रत्याशी के सवाल पर उन्होंने कहा कि नाम की घोषणा एक-दो दिन में हो जाएगी। वहां से मजबूत प्रत्याशी सामने आएगा। और कड़ी सुरक्षा

नामांकन जमा करने का काम तेज होने के साथ ही कलक्ट्रेट की सुरक्षा और सख्त होने लगी हैं। एआरटीओ में काम को आने वालों को वजह जानने बाद भी प्रवेश नहीं दिया गया। मीडिया को और किया दूर

नामांकन स्थल और मीडिया के बीच दूरी गुरुवार को और बढ़ गई। पहले दिन मीडियाकर्मी आरओ स्थल से सौ मीटर दूर तक पहुंचे थे, गुरुवार को यह दूरी और बढ़ा दी गई। मीडियाकर्मियों को दो सौ मीटर पहले ही रोका गया।

Edited By: Jagran