जासं, मैनपुरी: कोरोना के संक्रमण और आयोग के चाबुक ने मैदानी जंग पर पाबंदी लगा दी है। साफ कर दिया है कि चुनाव का प्रचार इंटरनेट मीडिया के जरिए ही होगा। ऐसे में सोशल वार को अब सपा भी पूरी तरह से तैयार हो गई है। पांच सैकड़ा से ज्यादा युवा सपा के साइबर वार की कमान संभालेंगे।

विधानसभा चुनाव की रणभेरी हो चुकी है। अबकी कोरोना का साया भी मंडरा रहा है। ऐसे में चुनाव आयोग ने सख्ती बढ़ा दी है। सभी दलों को वर्चुअल प्रचार करने के निर्देश दिए गए हैं। आयोग के निर्देश के बाद सपा ने सोशल वार की तैयारी पूरी कर ली है। इंटरनेट मीडिया की कमान पूरी तरह से युवा हाथों को सौंपी गई है। गुरुवार को आवास विकास कालोनी स्थित पार्टी कार्यालय पर कोविड प्रोटोकाल के तहत बैठक का आयोजन कराया गया।

जिलाध्यक्ष देवेंद्र सिंह यादव ने कहा कि आयोग के निर्देशों के अनुसार हमें अपनी तैयारी करनी है। पार्टी के ऐसे युवा कार्यकर्ता जो इंटरनेट मीडिया का बेहद सावधानीपूर्वक संचालन करना जानते हैं, उन्हें जिले में वर्चुअल ढंग से पार्टी की नीतियों को लोगों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। सभी युवाओं को उनके दायित्व समझाकर पार्टी की नीतियों और योजनाओं को मतदाताओं तक पहुंचाने के कार्य में लगाया गया है। इस मौके पर महासचिव रामनारायण बाथम भी उपस्थित थे। खुद भी समझी इंटरनेट मीडिया की बारीकियां

पदाधिकारियों ने युवाओं से इंटरनेट मीडिया में वाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम के बारे में विस्तार से जानकारी जुटाई। सभी ने सामूहिक निर्णय लिया कि अपने-अपने पेज पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़कर उन तक पार्टी का संदेश पहुंचाएं। आचार संहिता का भी पढ़ाया गया पाठ

महासचिव रामनारायण बाथम ने कहा कि जिन युवाओं को इंटरनेट मीडिया की जिम्मेदारी सौंपी गई है, उन्हें सबसे पहले आदर्श आचार संहिता को समझना होगा। किसी भी पोस्ट को करने से पहले इस बात का ध्यान रखें कि वह अमर्यादित न हो। हमें सिर्फ अपनी बात रखनी है। किसी भी दल की अच्छाई या बुराई नहीं करनी है।

Edited By: Jagran