संसू, भोगांव : बाजार कर स्वजन के साथ घर वापस जा रहे दो बालकों की ट्रैक्टर और टेंपो की टक्कर में मौत हो गई। घटना के बाद भोगांव-जागीर मार्ग पर जाम के हालात बन गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जाम खुलवाया और घायलों को अस्प्ताल भिजवाया।

एलाऊ थाना क्षेत्र के गांव मेरापुर निवासी धर्मेंद्र व उनके चचेरे भाई सतीश पाल की पत्नी शीला देवी व स्वाती बुधवार शाम अपनी ननद अनीता देवी के साथ भोगांव बाजार करने गई थीं। दोनों महिलाओं के साथ उनके पुत्र भी थे। शीला देवी के पुत्र 12 वर्षीय आलोक रंजन व स्वाती के चार वर्षीय पुत्र वंशुल के साथ वे टेंपो में सवार होकर गांव जा रहीं थी। भोगांव-जागीर मार्ग पर गांव नगला गुलाबी के सामने पहुंचते ही विपरीत दिशा से आए ट्रैक्टर ने टेंपो में टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही टेंपो सवार सवारियां सड़क पर गिर गईं। आलोक व वंशुल की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उन दोनों की मां व बुआ घायल हो गईं। घटना के बाद आसपास के ग्रामीणों ने मौके पर पहुंच घायल दोनों महिलाओं को अस्पताल भिजवाया। कुछ देर के बाद सड़क पर यातायात थमने से जाम के हालात बनने लगे। भोगांव पुलिस ने यातायात सामान्य कराया। घटना के बाद ट्रैक्टर व टेंपो चालक मौके से फरार हो गए। पुलिस ने दोनों वाहनों को कब्जे में ले लिया। सड़क हादसे के बाद पहुंचे पुलिस वाहन पर पथराव

संसू, बिछवां: सड़क हादसे की सूचना पर पहुंची पुलिस के साथ ग्रामीणों की कहासुनी हो गई। इस दौरान पुलिस वाहन पर पथराव कर दिया गया। हालांकि पुलिस ने पथराव और विवाद होने से इन्कार किया है।

क्षेत्र के गांव लोधीपुर निवासी दिव्यांग आशीष बुधवार देर शाम अपनी मोपेड से सड़क पर जा रहे थे, तभी एक बाइक ने टक्कर मार दी। जिससे वे सड़क पर गिरकर मामूली चोटिल हो गए। इसी बीच आशीष के जान पहचान के तमाम लोग मौके पर पहुंच गए। इस पर बाइक सवार दोनों युवक बाइक छोड़कर फरार हो गए। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची तो वहां मौजूद लोगों ने पुलिस पर देरी से आने का आरोप लगाते हुए बवाल शुरू कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों के साथ पुलिस कर्मियों की नोक-झोंक हो गई। इस दौरान कुछ ग्रामीणों ने पुलिस वाहन पर पत्थर भी मारे। इसी दौरान वहां मौजूद कुछ लोगों ने बवाल कर रहे युवकों समझा बुझाकर शांत किया। पुलिस ने मोपेड और बाइक को कब्जे में ले लिया है। थानाध्यक्ष बिछवां विदेश कुमार त्यागी ने किसी भी प्रकार के विवाद से इन्कार किया है।

Edited By: Jagran