कुरावली, संवाद सूत्र। मनरेगा से धनराशि खर्च करने के बाद भी तालाब की प्यास नहीं बुझ सकी। तीन साल बाद भी तालाब नीर की पीर से तड़प रहा है। सूखे तालाब से पशु और पक्षियों को राहत नजर मिल रही है।

ब्लॉक क्षेत्र के गांव विशुनपुर में मनरेगा योजना के तहत तीन साल पहले तालाब की खोदाई कराई गई थी। सुंदीकरण और पानी भी भरवाया गया था। उस समय पानी से पशु और पक्षियों को भी राहत मिली।

ग्रामीणों ने बताया कि तालाब सुंदरीकरण के कुछ महीने बाद ही उदासीनता के चलते सूख गया। इस ओर न ग्राम प्रधान ने ध्यान दिया और न ही पंचायत सचिव ने। सरकारी धन पूरी तरह से निष्प्रयोजित साबित हो गया। ग्रामीणों ने इस तालाब में पानी भरवाने की गुहार प्रधान और ब्लॉककर्मियों से लगाई, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।

-

पुनूपुरा के तालाब में भरा पानी-

संसू, कुरावली: दैनिक जागरण के अभियान के बाद प्रशासन ने गांव पुनूपुरा के तालाब को पानी से लबालब करा दिया। पानी आने ग्रामीण खुश नजर आ रहे हैं। गांव के विनोद कुमार ने बताया कि अब पशु पक्षियों के लिए पानी की समस्या खत्म हो गई है। प्रशांत कुमार का कहना है कि ग्रामीण भी तालाब की काफी देखभाल करते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप