जासं, मैनपुरी: जिले में बुखार का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। नए मरीजों के मिलने का सिलसिला तेजी से जारी है। चौबीस घंटे में अलग-अलग स्थानों पर बुखार से किशोर समेत तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि सैकड़ों की संख्या में लोग बीमार हैं।

अगस्त से शुरू हुआ जिले में बुखार का कहर अब जानलेवा हो चुका है। हर दिन मरीजों की मौत हो रही है। स्थिति यह रही कि जिला अस्पताल में बेड दोबारा फुल होने लगे हैं। नए मरीज सबसे ज्यादा बढ़ रहे हैं। चौबीस घंटे के अंदर तीन लोगों की बुखार की चपेट में आने से मौत हो गई। कस्बा भोगांव के मुहल्ला रसूलाबाद निवासी हैदर (16) चार दिनों से बुखार से बीमार थे। स्वजन स्थानीय चिकित्सकों से उपचार करा रहे थे। रविवार को आगरा ले जाते समय किशोर की रास्ते में मौत हो गई। दन्नाहार थाना क्षेत्र के गांव कपूरपुर निवासी सूरजमुखी (60) पत्नी राज सिंह को बुखार से हालत खराब होने के बाद स्वजन द्वारा जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान रविवार को उनकी मौत हो गई। जिला एटा के थाना जैथरा अंतर्गत गांव गढि़या नत्थू सिंह निवासी विवेक (30) पुत्र सियाराम पांच दिन से बुखार से बीमार थे। तबीयत बिगड़ने पर स्वजन द्वारा उन्हें जिला अस्पताल लाया जा रहा था, लेकिन रास्ते में उनकी मौत हो गई। झोलाछाप के पास न जाएं: डीएम

डीएम महेंद्र बहादुर सिंह का कहना है कि कोई भी मरीज झोलाछाप के पास या फिर निजी चिकित्सकों के पास न जाकर सीधे जिला अस्पताल पहुंचें। यहां बेहतर उपचार के साथ मरीजों को स्वास्थ्य लाभ दिया जा रहा है। बेहतर है कि मरीज यहां-वहां भटकने की बजाय अस्पताल ही पहुंचें और जांच कराएं। अब तक अस्पताल से 50 फीसद बुखार के मरीज पूरी तरह से ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। शासन की टीम ने टटोली मरीजों की नब्ज

जासं, मैनपुरी: डेंगू और बुखार के कहर से जूझते जिले में मरीजों की परेशानी की गूंज शासन तक जा पहुंची है। लखनऊ से मलेरिया विभाग के संयुक्त निदेशक की अगुवाई में तीन सदस्यों की टीम ने जिले में डेरा डाल लिया है। टीम ने डीएम और स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों की नब्ज टटोलकर बढ़ती बीमारी पर चिता जाहिर की है। अधिकारियों को मंथन कर स्थिति को सुधारने के निर्देश दिए हैं।

बेकाबू बुखार के कहर से बिगड़े हालात की जानकारी करने के लिए शनिवार की देर शाम संयुक्त निदेशक मलेरिया डा. अवधेश यादव, एंटोमोलाजिस्ट सुदेश कुमार और लैब तकनीशियन अमित शुक्ला मैनपुरी पहुंचे थे। स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ समीक्षा करने के बाद सभी ने रविवार की दोपहर डीएम महेंद्र बहादुर सिंह के साथ जिला अस्पताल का जायजा लिया।

टीम ने यहां बुखार पीड़ित मरीजों से उनकी सेहत की जानकारी जुटाई। इनडोर में भी वार्डों का निरीक्षण किया। यह देखकर टीम के सदस्य चितित हो गए है कि भर्ती सभी मरीजों में 99 फीसद सिर्फ बुखार के ही हैं। इस पर चिता जाहिर करते हुए उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों को इस पर चितन करने के साथ बुखार फैलने की वजह तलाशने के लिए कहा। इतना ही नहीं खामियों को भी दुरुस्त कराए जाने के निर्देश दिए हैं।

निरीक्षण के दौरान सीएमओ डा. पीपी सिंह, एसीएमओ डा. राजीव राय, सीएमएस डा. अरविद कुमार गर्ग, एपिडेमियोलाजिस्ट डा. अनिल कुमार यादव, जिला मलेरिया अधिकारी एसएन सिंह, प्रभारी अधिकारी फार्मेसी ऋषि प्रकाश यादव, स्वास्थ्य सूचना शिक्षा अधिकारी रवींद्र सिंह गौर आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran