जासं, मैनपुरी : ठंड से निराश्रित और जरूरतमंदों को निजात दिलाने के लिए नगर पालिका जुट गई है। अबकी बार रेलवे स्टेशन परिसर में भी अस्थायी रैन बसेरा बनवाया जा रहा है। शहर में चार अस्थायी रैन बसेरों का निर्माण कराया जा रहा है, जबकि स्थायी शेल्टर होम की जिम्मेदारी डूडा ने अपने हाथ में ली है।

सर्दियां शुरू हो चुकी हैं। शीतलहर के प्रकोप से पहले ही जरूरतमंदों और निराश्रितों की मदद की व्यवस्था आरंभ कर दी गई है। नगरपालिका प्रशासन द्वारा शहर में रेलवे स्टेशन परिसर को भी इस बार आवश्यकता वाली सूची में शामिल किया है। यहां परिसर में भी एक रैन बसेरे का निर्माण कराया जा रहा है। इसके अलावा कचहरी रोड पर कोतवाली के बाहर, रोडवेज बस स्टैंड परिसर और नगर पालिका परिसर में अस्थायी बसेरा बनवाया गया है।

प्रत्येक में फिलहाल 10-10 लोगों के ठहरने के प्रबंध किए गए हैं। वहीं करहल चौराहा स्थित श्रृंगार नगर कालोनी में बने स्थायी शेल्टर होम के संचालन की जिम्मेदारी इस बार डूडा ने ली है। प्रभारी परियोजना अधिकारी आरके सिंह का कहना है कि यहां 100 बेड पर रजाई और गद्दों आदि के भी प्रबंध करा दिए गए हैं। सार्वजनिक स्थानों पर प्रचार-प्रसार कराकर जरूरतमंदों से अपील की जा रही है कि वे शेल्टर होम में रात गुजार सकते हैं।

ठहरने वालों का रखा जाएगा रिकार्ड

पालिकाध्यक्ष मनोरमा का कहना है कि रैन बसेरों के अलावा शेल्टर होम में जो भी ठहरेंगे, उन सभी का नाम, पता, मोबाइल नंबर और आधार कार्ड की जानकारी भी एक रजिस्टर पर दर्ज की जाएगी। यह सुरक्षा के मद्देनजर किया जाएगा। व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए अस्थायी रैन बसेरों पर एक-एक सफाई कर्मी को इसकी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

Edited By: Jagran