जासं, मैनपुरी : वैक्सीनेशन में पिछले कुछ हफ्तों से जिले का फीसद कम निकल रहा है। अफसर फीसद को बढ़ाने में जुटे हैं, लेकिन सामूहिक प्रयास न होने से सफलता नहीं मिल रही है। अब दोबारा मेगा वैक्सीनेशन कैंप के जरिए 48 हजार लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य सौंपा गया है। अबकी बार बेपरवाह स्वास्थ्य अधिकारियों पर खास नजर रखी जाएगी। जिन अधिकारियों के क्षेत्र का फीसद कम रहेगा, उन पर कार्रवाई की गाज गिर सकती है।

शासन के निर्देश पर जिले में 18 अक्टूबर को मेगा वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन कराया जाना है। शनिवार को सीएमओ डा. पीपी सिंह ने सभी स्वास्थ्य अधिकारियों और जिम्मेदारों के साथ बैठक कर कार्यक्रम से संबंधित जानकारी साझा की। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ समय से ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीनेशन को लेकर जिम्मेदार गंभीरता नहीं दिखा रहे हैं। प्रशासनिक समीक्षा में भी धीमी रफ्तार दिखी थी। इस बार किसी भी प्रकार की हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं होगी। जिले में 48 हजार लोगों के वैक्सीनेशन का लक्ष्य रखा गया है। सभी सीएचसी और पीएचसी के अलावा सब सेंटर्स पर भी आयोजन कराया जाना है। मंडल स्तर से भी लगातार समीक्षा हो रही है। यदि इस बार लक्ष्य की प्राप्ति में मनमानी मिलती है तो बेपरवाहों के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की जाएगी। पिछले अभियान में घट गया था फीसद

11 अक्टूबर को भी मेगा वैक्सीनेशन का आयोजन कराया गया था। 36 हजार लोगों के वैक्सीनेशन का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, जिसमें 11627 लोगों को ही वैक्सीन लगाई गई थी। इसमें 5877 को पहला डोज और 5750 को दूसरा डोज लगाया गया था।

Edited By: Jagran