जागरण संवाददाता, मैनपुरी: इंद्र देव मेहरबान हुए तो गरज के साथ बादल जमकर बरसे। बारिश ने नगर पालिका के इंतजाम की पोल खोल दी। शहर में जगह-जगह जलभराव हो गया। इसके चलते नागरिकों और वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ गया। हालांकि झमाझम बारिश से उमस पूरी तरह काफूर हो गई। बच्चे साइकिल लेकर गलियों और सड़कों पर बरसात का आनंद लेते रहे।

बीते तीन दिनों से मौसम राहतकारी साबित हो रहा है। गुरुवार सुबह से आसमान पर काले बादलों का डेरा जम गया। बयार चलने से मौसम सुहाना हो गया। इसी बीच शहर में बूंदाबांदी शुरू हो गई। कई क्षेत्रों में बारिश होने से नागरिक खुश नजर आए। दोपहर को आसमान पर छाए बादल हटे तो धूप भी खिली। लेकिन उमस अपना असर नहीं दिखा सकी। शाम को मौसम फिर मेहरबान हुआ। आसमान पर काले छाए और कुछ ही देर में झमाझम बारिश होने लगी। आकाशीय गरज के साथ झमाझम बारिश का यह क्रम काफी देर चलता रहा। कुछ ही देर में पूरा शहर पानी से लबालब हो गया। तमाम राहों और मुहल्लों में जलभराव हो गया, इससे नागरिकों के साथ वाहन चालकों को भी परेशानी हुई। सफाई नहीं होने से नालियों पानी प्रवाह थमता रहा, गंदगी सड़कों पर दिखने लगी। कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी नरेंद्र कुमार के अनुसार, आगामी कई दिनों तक ऐसा मौसम बना रहेगा। आसमान पर बादल छाए रहेंगे तो बारिश भी होगी।

-

यहां हुआ जलभराव-

शहर के मुहल्ला ककरईया, गाड़ीवान, अग्रवाल मुहल्ला, नगरिया के अलावा कचहरी रोड, स्टेशन रोड, जेल चौराहा, आगरा रोड और राजा का बाग।

Edited By: Jagran