जासं, मैनपुरी : मादक पदार्थों की तस्करी में महिलाओं का भी दखल है। मंगलवार शाम पुलिस ने कार्रवाई कर दो महिला और दो पुरुष मौके से पकड़ लिए, जबकि उनके चार साथी फरार हो गए। पुलिस ने 700 ग्राम नशीला पाउडर बरामद किया है, जिसे स्मैक बताया जा रहा है। हालांकि, पुलिस ने दर्ज मामले में नशीले पाउडर के स्मैक होने का उल्लेख नहीं किया है।

शहर में लंबे अरसे से स्मैक और अन्य नशीले पदार्थो की बिक्री की जा रही थी। लेकिन, पुलिस उन पर शिकंजा नहीं कस पा रही थी। मंगलवार शाम इंस्पेक्टर कोतवाली ओमहरी बाजपेयी ने टीम के साथ किला बजरिया स्थित एक घर पर दबिश दी तो वहां मौजूद महिला और पुरुष भागने लगे। पुलिस ने दो महिला व दो पुरुष हिरासत में ले लिए। पकड़े गए लोगों ने अपने नाम राजी अली निवासी नई बस्ती तकिया चौकी इटावा, अजय जाटव निवासी गोलपाडि़या बिजलीघर ग्वालियर, रजनी पत्नी अनिल निवासी किला बजरिया शहर मैनपुरी व रानी देवी पत्नी विमलेश राजपूत निवासी लालपुर सगौनी थाना दन्नाहार मैनपुरी बताए। वहीं फरार साथियों के नाम कांती देवी पत्नी ओमप्रकाश, राजकुमारी पत्नी टिकू, राजू निवासीगण किला बजरिया, कमलेश निवासी लालपुर सगौनी दन्नाहार बताए हैं।

पकड़े गए महिलाओं व पुरुषों से 700 ग्राम सफेद रंग का नशीला पाउडर बरामद किया है। पुलिस बरामद पाउडर को स्मैक होने की बात कह रही है। हालांकि रिपोर्ट में स्मैक का उल्लेख नहीं किया गया है। बरामद पाउडर को सिर्फ सफेद नशीला पाउडर लिखा गया है। सीओ सिटी अभय नरायन राय ने बताया कि फरार तस्करों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की टीमें लगाई गई हैं, जल्द गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा। मध्य प्रदेश से लाई जाती स्मैक

जांच के आधार पर पुलिस को पता चला है कि तस्कर मध्य प्रदेश से तस्करी कर स्मैक को जिले में लाते थे। यहां महिलाओं के जरिए फुटकर बिक्री कराई जाती थी। मौके से एक-एक ग्राम पुड़िया बरामद हुई हैं। मौके पर पकड़ा गया अजय जाटव ग्वालियर का रहने वाला है। इसी के माध्यम से स्मैक की आपूर्ति किए जाने की बात पता चली है। फरार राजू व पकड़ी गई रजनी का पति अनिल भी स्मैक सहित ग्वालियर में पकड़े गए थे। अनिल अभी भी जेल में है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस