मैनपुरी, जागरण संवाददाता। अगले साल नवंबर-दिसंबर में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव तय समय पर ही होंगे। राज्य निर्वाचन विभाग ने जनवरी-फरवरी में चुनाव होने की अफवाहों पर विराम लगा दिया है। आयोग चुनाव कराने की तैयारी कर रहा है।

2015 में त्रिस्तरीय (क्षेत्र पंचायत, ग्राम प्रधान और जिला पंचायत सदस्य) पंचायत चुनाव हुए थे। 2020 नवंबर-दिसंबर में कार्यकाल पूरा होने जा रहा है। चुनाव भी कार्यकाल पूरा होने पर ही होना हैं। कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर खबरें चलने लगी थीं। इनमें जनवरी-फरवरी में पंचायत चुनाव कराने की बातें कहीं जा रही थीं। मौजूदा प्रधान और जिला पंचायत सदस्य इसे लेकर परेशान थे। निर्वाचन विभाग ने इन अटकलों पर विराम लगा दिया है। आयोग के निर्देश हैं कि समय पर ही चुनाव होंगे। यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि पहली बार विधानसभा निर्वाचन की मतदाता सूचियों के आधार पर मतदान कराया जाएगा। मतदान में मतदाताओं को नोटा का भी विकल्प दिया जाएगा। एक से शुरू होगा पुनरीक्षण

जिले के सभी 1731 बूथों पर एक सितंबर से विधानसभा निर्वाचन नामावलियों के पुनरीक्षण का काम होगा। बीएलओ घर-घर जाकर नामावली का सत्यापन करेंगे। एक माह के इस अभियान के दौरान वोटर सूची में नए नाम बढ़ाने के अलावा विलोपित और मृतकों के नाम हटाए जाएंगे।

आयोग समय से ही चुनाव कराने की तैयारी कर रहा है। सोशल मीडिया पर जो खबरें चल रही हैं, वह पूरी तरह से फर्जी हैं। फिलहाल पुनरीक्षण अभियान की तैयारी चल रही है।

कपिल सिंह, उप जिला निर्वाचन अधिकारी। समय पर चुनाव कराने का सरकार का अच्छा फैसला है। समय से पहले चुनाव हुआ तो प्रधान संगठन विरोध करेगा। कोर्ट में दस्तक दी जाएगी।

सुनील यादव, प्रधान प्रतिनिधि।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस